गुजरात में ये होंगे बीजेपी के सीएम कैंडिडेट, मोदी ने बदल दी रणनीति!

gujarat_CM 2017

नई दिल्ली(रिपोर्ट अड्डा): गुजरात विधानसभा चुनाव की सरगर्मियां तेजी से बढ़ती जा रही हैं। हालांकि अभी चुनाव की तारीखों का एलान नहीं हुआ है, लेकिन कांग्रेस ने पहले से ही प्रचार शुरू कर दिया है। गुजरात के विधानसभा चुनाव हिमाचल प्रदेश के साथ ही होंगे, हिमाचल में चुनाव की तारीख का एलान कर दिया गया है। लेकिन गुजरात में तारीख का एलान नहीं होने से कांग्रेस चुनाव आयोग पर हमला कर रही है। कांग्रेस का कहना है कि आयोग बीजेपी के दबाव में काम कर रहा है। बहरहाल तारीख का एलान जब बोना होगा हो जाएगा। उस से पहले हम आपके लिए लाएं हैं बीजेपी के खेमे से एक अहम खबर

गुजरात बीजेपी के लिए प्रतिष्ठा का प्रश्न बन गया है। गुजरात को बीजेपी का गढ़ माना जाता है। नरेंद्र मोदी ने यहां पर लगातार 13 साल तक शासन किया है। गुजरात मॉडल के दम पर ही वो केंद्र में प्रधानमंत्री बने थे। अब सवाल ये है कि इस बार गुजरात में बीजेपी किसे मुख्यमंत्री का कैंडिडेट घोषित करेगी। फिलहाल गुजरात में विजय रुपाणी मुख्यमंत्री हैं, नितिन पटेल डिप्टी सीएम हैं। इस बात की संभावना कम ही है कि इन दोनों में से कोई सीएम कैंडिडेट होगा। विजय रुपाणी संघ से करीबी के कारण सीएम बने हैं। तो वहीं नितिन पटेल को पटेल समुदाय को साधने के लिए डिप्टी सीएम बनाया गया है।

अब सवाल ये है कि गुजरात में बीजेपी किसे सीएम चेहरा बना कर पेश करेगी। सूत्रों के मुताबिक बीजेपी किसी नए शख्स को सीएम के तौर पर प्रेजेंट करेगी। ऐसा करने के दो कारण हो सकते हैं। पहला तो ये है कि बीजेपी एंटी इन्कम्बैंसी फैक्टर को खत्म कर देगी। इसी तरह का फैसला दिल्ली में एमसीडी चुनाव के दौरान किया गया था। दूसरा कारण ये है कि राज्य में जिस तरह से दलितों और पटेल समुदाय ने प्रदर्शन का कोहराम मचा रखा है उसे शांत करने के लिए इन दोनो समुदायों में से किसी को सीएम चेहरा बनाया जा सकता है।

ऐसा करके बीजेपी ये संदेश देगी कि वो सबका साथ सबका विकास के नारे के साथ है। अब बात करते हैं कि इस समुदाय से आने वाले किस नेता को सीएम चेहरा बनाया जा सकता है। सबसे ज्यादा उम्मीद इस बात की है कि पटेल समुदाय से ही सीएम कैंडिडेट होगा। नितिन पटेल के अलावा भी राज्य में बीजेपी के पास कई कद्दावर पटेल नेता हैं। पटेल सीएम कैंडिडेट होने से हार्दिक पटेल की चुनौती को खत्म किया जा सकता है। गुजरात में करीब 20 फीसदी पटेल वोट हैं उम्मीद इस बात की भी है कि मोदी और शाह गुजरात बीजेपी अध्यक्ष जीतू वघाणी को सीएम कैंडिडेट घोषित कर सकते हैं, जो लेउवा पटेल हैं। तो देखते हैं कौन सा समीकरण सही बैठता है।