चर्चित राज्य

नोएडा के कॉल सेंटर में STF की रेड, टेबल के नीचे छिप गई थी लड़कियां

नोएडा कॉल सेंटर

नई दिल्ली(रिपोर्ट अड्डा): यूपी में सत्ता का निजाम बदलने के बाद से पुलिस एक्शन में दिख रही है। हाल के दिनों में पुलिस के काम करने के अंदाज में तेजी आई है। अब हर छोटी घटना पर भी पुलिस एक्शन ले रही है। हालांकि राज्य की कानून व्यवस्था पर सवाल अभी भी उठ रहे हैं। इन सबके बीच में नोएडा में पुलिस की STF ने एक काल सेंटर पर छापेमारी की। इस दौरान वहां का जो नजारा दिखाई दिया वो हैरान करने वाला था। आप पुलिस की रेड की तस्वीरों को देख कर हैरान हो जाएंगे। समझ नहीं आएगा कि आखिर इस कॉल सेंटर में हो क्या रहा था। ऐसी क्या बात हो गई जो सेंटर में काम करने वाली लड़कियां अपना मुंह छिपाने लगी थी।

यूपी STF ने 17 अगस्त की शाम को नोएडा के सेक्टर 64 बी में चल रहे एक कॉल सेंटर पर छापा मारा। छापेमारी के दौरान पुलिस ने 43 लोगों को हिरासत में ले लिया। बताया जा रहा है कि इन दोनों कॉल सेंटर्स से लाइफ इन्श्योरेंस के नाम पर ठगी और धोखाधड़ी का खेल चल रहा था। इस मामले में एसटीएफ पूछताछ कर रही है। बता दें कि एसटीएफ बिना वजह ऐसे रेड नहीं डालती है। अगर उसने रेड डाली है तो इसका मतलब ये है कि वहां पर जरूर कोई बड़ा घपला हो रहा होगा। एसटीएफ गिरफ्तार किए गए लोगों के साथ पूछताछ कर रही है।

छापेमारी के दौरान कॉल सेंटर पर कई लड़कियां भी मौजूद थी। जैसे ही छापेमारी के बारे में उनको खबर मिली वो अपना चेहरा छिपाने लगीं। कुछ लड़कियों ने तो मेज के नीचे छिपकर खुद को बचाने की कोशिश की। हालांकि एसटीएफ ने सभी को हिरासत में ले लिया है। बताया जा रहा है कि इन लड़कियों की मदद से फोन करके लाइफ इंश्योरेंस का फर्जी खेल खेला जाता था। बता दें कि नोएडा में ही पिछले कुछ समय से लगातार इस तरह के गिरोह पकड़ में आ रहे हैं। जो ऑनलाइन ठगी करते हैं। आपको याद ही होगा लाइक्स घोटाला।

एसटीएफ ने फर्जीवाड़े के मास्टरमाइंड समेत 9 लोगों को जेल भेज दिया है। बताया जा रहा है कि ये लोग पिछले कई दिनों से ये घपला कर रहे थे। लड़कियों से कॉल करवाते थे। इस खेल में इंश्योरेंस कंपनियों में काम करने वाले कुछ लोगों की मिलीभगत की बात भी सामने आई है। वो इन लोगों को ग्राहकों की डीटेल मुहैया कराते थे। जिसके बाद उनको फोन किया जाता था। उनके इंश्योरेंस के बारे में जानकारी देकर कुछ सवाल किए जाते थे। जिस से ग्राहकों को लगता था कि ये सही में इंश्योरेंस कंपनी के लोग हैं। बहरहाल अब इस गोरखधंधे का खुलासा हो गया है।

Advertisement

रिलेटेड कंटेंट के लिए नीचे स्क्रॉल करे..

Loading...
Advertisement

Leave a Comment