तेजस्वी यादव ने चिराग पासवान पर हमला, तिलमिला जाएंगे जमुई सांसद

तेजस्वी यादव ने मोतिहारी में कहा कि उनकी नजर में नीतीश और अमित शाह ने मिलकर लोजपा-रालोसपा को नीचा दिखाया है।

New Delhi, Oct 28 : तेजस्वी यादव अब तक नीतीश सरकार और बीजेपी पर हमला करते थे, लेकिन इस बार उनके निशाने पर लोजपा सुप्रीमो के बेटे हैं, उन्होने ना कुछ कहते हुए भी बहुत कुछ कह दिया। राजद विधायक दल के नेता ने कहा कि अगर चिराग पासवान अमीर दलितों को आरक्षण छोड़ने के लिये कह रहे हैं, तो फिर उनके पिता, चाचा और वो खुद सुरक्षित सीट से चुनाव क्यों लड़ते हैं, पहले वो खुद आरक्षण का लाभ लेना छोड़ें, फिर दूसरों को नसीहत दें।

बीजेपी-जदयू ने लोजपा-रालोसपा को नीचा दिखाया
लालू यादव के छोटे बेटे ने रविवार को शिवहर जाने से पहले मोतिहारी में कहा कि उनकी नजर में नीतीश और अमित शाह ने मिलकर लोजपा-रालोसपा को नीचा दिखाया है, इसके बावजूद लोजपा सुप्रीमो रामविलास पासवान खामोश हैं, चिराग पासवान कम सीट मिलने की बात जरुर कर रहे हैं, लेकिन जब तक किसी भी पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष अपना विरोध दर्ज नहीं कराता, तब तक उनकी बात नहीं सुनी जाती।

रैली में शामिल ना होने पर दी सफाई
तेजस्वी ने कन्हैया कुमार की रैली में शामिल नहीं होने पर भी सफाई दी है, उन्होने कहा कि उनकी पार्टी से प्रदेश अध्यक्ष और आलोक मेहता उस रैली में शामिल थे, मैं तो भाकपा माले की रैली में भी नहीं गया था, लेकिन तब तो किसी ने भी सवाल नहीं पूछे थे, फिर आज क्यों सवाल पूछे जा रहे हैं।

जमुई से लड़ते हैं चिराग पासवान
आपको बता दें कि लोजपा इन दिनों गरीब सवर्णों के आरक्षण की बात कर रही है। पार्टी सुप्रीमो रामविलास पासवान से लेकर चिराग पासवान तक कई बार इस मुद्दे पर खुलकर बयान दे चुके हैं। चिराग पासवान ने पिछले दिनों कहा था कि जो दलित सामर्थ्यवान हैं, उन्हें आरक्षण का लाभ नहीं लेना चाहिये। जबकि खुद चिराग जमुई सुरक्षित सीट से लोकसभा चुनाव लड़ते हैं, इसी पर तेजस्वी यादव ने उन पर हमला किया है।

पहले भी एक-दूसरे पर कर चुके हैं कटाक्ष
मालूम हो कि तेजस्वी और चिराग पासवान के बीच बयानबाजी पहली बार नहीं देखा जा रहा है, इससे पहले बिहार विधानसभा चुनाव के समय भी एक-दूसरे पर दोनों ने कटाक्ष किया था। तब तेजस्वी की उम्र गलती से तेज प्रताप से ज्यादा हो गया था, जिस पर चिराग ने चुटकी ली थी। इससे तिलमिलाये तेजस्वी ने उनसे पूछा था कि उन्होने अपने हलफनामे में कौन सी मां का नाम लिखा है।