चर्चित राज्य

राहुल और अखिलेश के गठबंधन से रो पड़ी सोनिया गांधी…भावुक पत्र लिख जाहिर किया दर्द !

Sonia Gandhi writes a letter to Akhilesh

नई दिल्ली(रिपोर्ट अड्डा) कांग्रेस के लिए उत्तर प्रदेश में हालात बेहद कठिन है। अपने दम पर चुनाव लड़ने की बात करने वाली कांग्रेस ने सपा से गठबंधन कर लिया। इस उम्मीद के साथ कि वो सपा के सहारे 27 साल बाद प्रदेश में सत्ता का स्वाद चख लेगी। लेकिन कांग्रेस की खराब और खस्ता हालत का अशर सपा पर भी पड़ने लगा है।

गठबंधन होने के बाद भी कुछ सीटों पर दोनों ही दलों के नेता चुनाव लड़ रहे हैं। इन सीटों पर फ्रेंडली फाइट की बात कही जा रही है।कांग्रेस और सपा के उम्मीदवार जिन सीटों पर चुनाव लड़ रहे हैं उनमें अमेठी और राय बरेली की सीटें भी शामिल हैं। बता दें कि राय बरेली और अमेठी को कांग्रेस का गढ़ माना जाता है। सोनिया गांधी राय बरेली से और राहुल गांधी अमेठी से लोकसभा चुनाव लड़ते रहे हैं। ऐसे में इस बार इन दोनों ही क्षेत्रों में विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की हालत बेहद खराब दिख रही है।कांग्रेस को समाजवादी पार्टी के साथ ही मुकाबला करना पड़ रहा है।

राय बरेली की बात करें तो यहां से सोनिया गांधी की इज्जत दांव पर लगी हुई है। यही कारण है कि वो अब भावुकता वाला पत्र लिख कर राय बरेली की जनता से वोट अपील कर रही हैं। खराब सेहत के कारण प्रचार करने में असमर्थ सोनिया ने राय बरेली की जनता के नाम एक पत्र लिखा है। इस पत्र में उन्होंने कहा है कि राय बरेली के साथ उनका पुराना नाता रहा है। इंदिरा गांधी के समय से ही राय बरेली कांग्रेस के लिए बेहद खास रही है। उन्होंने जनता से अपील करते हुए कहा है कि वो कांग्रेस के उम्मीदवार को भारी मतों से जीत दिलाएं।

सोनिया ने अपने पत्र में समाजवादी पार्टी का जिक्र तक नहीं किया है। वो नहीं चाहती हैं कि नता के मन में जरा भी संशय की स्थिति बने। फिलहाल सोनिया के पत्र के बाद सियासी हलकों में कहा जा रहा है कि वो राय बरेली की सीट हाथ से निकलती देख रही हैं। इसलिए वो अब जनता से भावुक अपील कर रही हैं। लेकिन जनता इतनी भी पागल नहीं है कि ये न देख पाए कि जिस पार्टी के साथ कांग्रेस ने गठबंधन किया है वो कांग्रेस के खिलाफ ही चुनाव लड़ रही है।

Read Also : कांग्रेस दे रही है अखिलेश यादव को धोखा, राहुल से ये उम्मीद नहीं थी

Leave a Comment