sleep comfortably for lose weight

नई दिल्ली(रिपोर्ट अड्डा) :दुनिया की करीब 76 फीसद आबादी वसा की शिकार है। यह एक नई महामारी बन गई है जो धीरे-धीरे दुनिया को अपनी गिरफ्त में ले रही है। छोटी छोटी गलत आदतें भी मोटापे का कारण बन सकती है और मोटापा बढ़ जाये तो फिर उसे कम करने के लिए काफी पसीना बहाना पड़ता है।

फिट होने के लिए हम पता नहीं क्या-क्या करते है। डाइटिंग, व्यायाम, जिम के चक्कर लगाना , पसंदीदा खाने से परहेज, आदि। इतनी मेहनत के बाद भी हमें वो रिजल्ट नहीं मिलता जैसा हम चाहते या सोचते है। तो जानिए इसके पीछे की मुख्य वजह है कि आप शायद अच्छी तरह से नहीं सो पाना हैं। निष्कर्षों से पता चला है कि बहुत कम नींद लेने से इसका शरीर के हार्मोन पड़ प्रभाव पड़ता है। अच्छी नींद ना आना मोटापा बढ़ने का मुख्य कारण है।

शोधों से पता चला हैं कि जिन लोगों को बिना किसी रुकावट के पूरी रात भरपूर और गहरी नींद आती है, उन्हें ब्लड प्रेशर, डाइबिटीज, मोटापा और भी कई तरह की बीमारियों से ग्रसित होने का खतरा कम होता है।
नियमित और गहरी नींद लेने से शरीर के अनचाहे मांस से छुटकारा मिल सकता है। World Sleep Society के अनुसार अच्छी नींद स्वास्थ्य के तीन स्तंभों में एक है। 8 घण्टे की गहरी नींद वजन संबंधी समस्याओं से निजात दिलाता है। अच्छी नींद उतनी ही जरूरी है जितना की भोजन। World Sleep Society ने लोगों से अपील की है कि “अच्छी नींद सोएं, जीवन का पोषण करें”।

WSS ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि- खाना और पीना की तरह नींद भी मनुष्य के लिए एक बुनियादी जरूरत है। रात कोअच्छी और आरामदायक नींद जरूर लेनी चाहिए। यह बीमारियों के साथ-साथ मोटापे से निजात दिलाता है। रिपोर्ट में कहा गया है कि सही समय पर सोने से आधी रात को लगने वाली भूख से छुटकारा मिलता है। नियमित और गहरी नींद लेने वाले अपने बराबर थके व्यक्ति की तुलना में 5% अधिक कैलोरी बर्न करते है।
World Sleep Society की रिपोर्टों के अनुसार नियमित नींद नहीं लेने से शरीर में प्राकृतिक हार्मोन का स्तर कम हो जाता है। इसमें भूख बढ़ाने वाला घ्रेलिन नामक हार्मोन को भूख को बढ़ाता है। 8 घण्टे की नींद इस हार्मोन को नियंत्रित करता है। घ्रेलिन कार्बोहाइड्रेड युक्त और मीठे भोजन के प्रति चाह बढ़ाता है। भूख बढ़ जाती है और लोग लगातार कुछ न कुछ खाते रहते है। नियमित नींद इसपर रोक लगाता है।
इसके पहले ओबेसिटी में प्रकाशित अध्ययन में ख गया कि Sound sleep लेने वाले Disturb Sleep वाले की तुलना में 1,300 कैलोरी एनर्जी ज्यादा बर्न करते है।

स्वीडिश स्टडी में पता चला है कि जो सही नींद नहीं ले पाते वे आवश्यक नींद पूरी करने वालो की तुलना में 35 कैलोरी एनर्जी का सेवन करते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *