राज्य

अब अयोध्या में होगी श्री राम की ‘लीला’…सीएम योगी ने कर दिया ‘महाएलान’

Shri ram's 'Leela' Ayodhya

नई दिल्ली(रिपोर्ट अड्डा):उत्तर प्रदेश की कमान संभालने के बाद से अब तक सीएम योगी कई बड़े और अहम फैसले ले चुके हैं। अपने चुनावी वादों को पूरा कर रहे हैं। एक के बाद एक फैसलों से जनता में ये विश्वास पैदा हुआ है कि योगी सरकार अपने सभी वादों को पूरा करेगी। लंबे समय के बाद यूपी को एक ऐसा सीएम मिला है जो बिना ड़रे बेधड़क फैसले ले रहा है। अब सीएम योगी ने फिर से एक हाहाकारी फैसला लिया है। इस फैसले से प्रदेश के तथाकथित सेक्युलर लोगों के बीच हंगामा मच सकता है।

बता दें कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण बीजेपी के लिए बड़ा एजेंडा है। योगी को मुख्यमंत्री बना कर बीजेपी ने संकेत दिया थआ कि वो हिंदुत्व के मुद्दे से नहीं हटेगी। योगी सरकार ने भी राम मंदिर की दिशा में काम करना शुरू कर दिया है। जी हां मंदिर निर्माण का मसला सुप्रीम कोर्ट में हैं। लेकिन योगी सरकार ने अयोध्या में श्री राम से जुड़े कार्यक्रमों को फिर से शुरू करवा दिया है। बता दें कि अयोध्या में पिछले काफी समय से रामलीला का मंचन नहीं हो रहा है।

सीएम योगी ने अब फैसला किया है कि अयोध्या में रामलीला का मंचन किया जाएगा. सालों से बंद पड़ी रामलीला को फिर से शुरू किया जाएगा। साफ है कि सरकार राम मंदिर के निर्माण से पहले ही माहौल बना रही है। अयोध्या के साथ साथ मथुरा और चित्रकूट में भी सालों से बंद रामलीला को शुरू किया जाएगा। बता दें कि इन जिलों में सालों से बंद रामलीला को शुरू कराने की मांग काफी समय से की जा रही थी।

यूपी में पिछले 15 सालों से सपा और बसपा की सरकारें रही थी। उन सरकारों ने रामलीला और राम मंदिर के निर्माण में कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई। अब योगी सरकार के आने के साथ ही धर्म और कर्म से जुड़े मसलों पर प्रमुखता से फैसला किया जा रहा है। अयोध्या में राम लीला का मंचन फिर से शुरू करवा के सीएम योगी ने एक संकेत दिया है। बता दें कि योगी सरकार ने पहले ही कैलाश मानसरोवर यात्रा के लिए एक लाख की सब्सिडी का एलान किया है। साथ ही अयोध्या में 14 करोड़ 77 लाख की लागत से भजन संध्या स्थल भी बनाया जाएगा।

Read Alsoसीएम योगी के खौफ से केजरीवाल कांपे राजनीति से सन्यास का दिया संकेत !

Advertisement

रिलेटेड कंटेंट के लिए नीचे स्क्रॉल करे..

Loading...
Advertisement

Leave a Comment