अंतरराष्ट्रीय बिज़नेस

खत्म हो जाएगा डॉलर का रुतबा…हिंदुस्तानी रुपये ने दी जोरदार पटखनी !

Rupees of dollar will end

नई दिल्ली(रिपोर्ट अड्डा): भारत की अर्थ व्यवस्था को लेकर कई तरह की बातें की जा रही हैं। कहा जा रहा है कि भारत की अर्थ व्यवस्था को नोटबंदी के बाद झटका लगा है। लेकिन जो आंकड़े निकल कर सामने आ रहे हैं उनको देखते हुए कहा जा सकता है कि देश की आर्थिक प्रगति अपनी रफ्तार से जारी है। देश के सम्मान और साख का प्रतीक रुपया तेजी से अमेरिकी डॉलर को टक्कर दे रहा है। कहा जा रहा है कि डॉलर के मुकाबले रुपया तेजी से मजबूत हो रहा है।

पिछले 3 महीने से लगातार डॉलर के मुकाबले रुपये में तेजी का माहौल है। ये तेजी विदेशी निवेशकों द्वारा डोमेस्टिक मार्केट में निवेश के कारण आ रही है। इसी के साथ दुनिया की बाकी करेंसी में गिरावट के कारण भी डॉलर के मुकाबले रुपया मजबूत हो रहा है। बाजार जानकारों का कहना है कि ये मजबूती फिलहाल जारी रहेगी। पिछले एक महीने के दौरान डॉलर के मुकाबले रुपया 63 से 65 की रेंज में जा सकता है।

कहा जा रहा है कि मजबूत घरेलू मैक्रो डाटा और विदेशी निवेशकों द्वारा इक्विटी और डेट में इनवेस्ट किए जाने से रुपये में इस साल अभी तक 5 फीसदी की मजबूती देखी गई है। कहा जा रहा है कि  इस महीने विदेशी निवेशकों मे भारत के कैपिटल मार्केट में 16500 करोड़ का निवेश किया है। इस से संकेत मिल रहा है कि आने वाले समय में भारतीय बिजनेस दुनिया के दूसरे देशों के मुकाबले काफी आगे जा सकता है।

आपको बता दें कि पीएम मोदी लगातार भारतीय अर्थ व्यवस्था को सुधारने और प्रगति देने की कोशिश कर रहे हैं। उनकी कोशिशों का असर भी दिखाई दे रहा है। कुल मिलाकर कहा जा सकता है कि हिंदुस्तानी इकॉनमी तेजी से आगे बढ़ रही है। रुपये में लगातार आ रही तेजी से अमेरिका तक हैरान है। अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प भी भारतीय प्रगति से हैरान हैं। उन्होंने हाल ही में कहा था कि डॉलर फिर से मजबूत हो रहा है। लेकिन अब ये साफ है कि रुपये में तेजी आ रही है जो डॉलर के लिए अच्छा संकेत नहीं है।

Read Also : हर भारतीय के खाते में सरकार डालेगी रकम !

Leave a Comment