चर्चित राज्य

रॉबर्ट वाड्रा का नया कारनामा, इस बार तो हद ही कर दी, VIP होने का नाजायज फायदा !

सोनिया गांधी,रॉबर्ट वाड्रा,

नई दिल्ली (रिपोर्ट अड्डा): राहुल गांधी के जीजा और कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा का विवादों से पुराना नाता है। यूपीए सरकार के दौरान वाड्रा को लेकर कई तरह की बातें सामने आ रही हैं। वहीं हरियाणा में जब कांग्रेस की सरकार थी तो उस समय वाड्रा को फायदा पहुंचाने के आरोप भी हैं। इस मामले में पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा सवालों के घेरे में है। अब वाड्रा को लेकर एक नया विवाद सामने आ रहा है। इसके बाद कांग्रेस फिर से मुश्किल में फंसती दिख रही है। बता दें कि वाड्रा जमीन विवाद की जांच धींगरा आयोग कर रहा है। इसके बाद बीजेपी को फिर से कांग्रेस पर हमला करने का मौका मिल गया है। वहीं वाड्रा के कारण सोनिया और राहुल फिर से परेशान हो रहे हैं। अब धींगरा आयोग की रिपोर्ट से ही एक और खुलासा हुआ है। बात हरियाणा में हुड्डा सरकार के समय की है।

कहा जा रहा है कि हुड्डा के सीएम रहते गुड़गांव में रॉबर्ट वाड्रा की कंपनी को कॉलोनी बनाने की इजाजत दे दी गई थी। खास बात ये है कि वाड्रा की कंपनी स्काइलाइट हॉस्पिटैलिटी को वाड्रा के VIP स्टेट के कारण कॉलोनी बनाने की मंजूरी मिल गई है। कंपनी के निर्माण की क्षमता का आंकलन ही नहीं किया गया था। नियमों के मुताबिक क्षमता के आधार पर ही लाइसेंस मिलता है। ये मामला 2008 का बताया जा रहा है।

सूत्रों के मुताबिक धींगरा आयोग की रिपोर्ट से ये सामने आया है कि जिन अधिकारियों को वाड्रा और उनकी कंपनी का मूल्यांकन करना था। उन्होंने वाड्रा के वीआईपी स्टेटस को देख कर ही उन्हे कॉलोनी बनाने की इजाजत दे दी। इस रिपोर्ट के मुताबिक रॉबर्ट वाड्रा का सोनिया गांधी का दामाद होना ही काफी था। इसी को उनकी कंपनी की क्षमता का सबूत मान लिया गया था। धींगरा आयोग के सामने टाउन एंड कंट्री प्लानिंग डिपार्टमेंट के अधिकारियों के बयान से ये खुलासा हुआ है।

बता दें कि कॉलोनी बनाने में गड़बड़ी की जांच के लिए ढींगरा आयोग का गठन किया गया था। आयोग ने पिछले साल अगस्त में अपनी रिपोर्ट खट्टर सरकार को सौंपी थी। हालांकि अभी रिपोर्ट सार्वजनिक नहीं की गई है। लेकिन उसके बाद भी आयोग की रिपोर्ट के बारे में जानकारी आती रहती है। इसी को लेकर कांग्रेस लगातार बीजेपी सरकार पर हमला करती है। कांग्रेस का आरोप है कि खट्टर सरकार बदले की भावना से काम कर रही है। वहीं आयोग की रिपोर्ट लीक होने को लेकर भी कांग्रेस ने बीजेपी पर आरोप लगाया था।

 

Leave a Comment