Reliance Jio decides

नई दिल्ली(रिपोर्ट अड्डा):- रिलायंस जियो ने अपने प्राइम प्लान की डेडलाइन को बढ़ाकर दूसरी कंपनियों के लिए सिरदर्द बढ़ा दिया है। अपने पेड प्लांस के लिए सब्सक्रिप्शन की डेडलाइन 15 अप्रैल तक बढ़ाने और इस टाइमलाइन के भीतर रजिस्ट्रेशन कराने वालों से तीन महीने तक मंथली चार्ज न लेने के रिलायंस जियो का फैसला अन्य कंपनियों के लिए मुश्किल पैदा कर सकता है। देश की टॉप तीन टेलिकॉम कंपनियां एयरटेल, वोडाफोन और आइडिया की इनकम को आगामी तिमाहियों में जियो का यूजर्स से चार्ज न लेने का फैसला और चपत लगाएगा।

जानकारों का कहना है कि जियो के इन दो फैसलों से कस्टमर्स को अपने साथ बनाए रखने के मोर्चे पर टॉप की तीनों कंपनियों की दिक्कत बढ़ जाएगी। जानकारों का कहना है कि जियो के ताजा एलान के बाद तीनों कंपनियों के एबिट्डा (अर्निंग्स बिफोर इंट्रेस्ट, टैक्स, डेप्रीसिएशन ऐंड अमॉर्टाइजेशन) में अगली चार तिमाहियों में बड़ी गिरावट आ सकती है। एबिट्डा के जरिए किसी कंपनी के कर्ज चुका सकने की क्षमता का संकेत मिलता है।

बताया जा रहा है कि वित्त वर्ष 2018 के पहली और दूसरी तिमाही में तीनों कंपनियों के लिए एबिट्डा में तिमाही दर कमी उसके अनुमान से ‘कहीं ज्यादा हो सकती है। एयरटेल का शेयर 31 मार्च को बीएसई पर 0.2 फीसदी गिरकर 349.95 रुपये और आइडिया का 1.44 फीसदी गिरकर 85.70 रुपये पर बंद हुआ था। एबिट्डा लेवल कम होने का मतलब ये है कि आने वाले महीनों में इन तीन कंपनियों को ज्यादा फाइनेंशियल दबाव झेलना होगा क्योंकि कर्ज चुकाने और 4जी नेटवर्क्स में बड़ा निवेश करने में उन्हें मुश्किल होगी।’

कुल मिलाकर रिलायंस जियो ने देस की तमाम टेलिकॉम कंपनियों के सामने चुनौती खड़ी कर दी है। 4 जी नेटवर्क के मामले में जियो ने क्रांति ला दी है। इसी के साथ ये भी साफ हो रहा है कि पहले 3जी के लिए कंपनियां ग्राहकों से कितना ज्यादा पैसा वसूल करती थी। लेकिन जियो के आने के बाद सभी कंपनियों को अपने प्लान कम करने पड़े हैं। इस से उनका मुनाफा प्रभावित हुआ है। अब जियो ने अपने प्राइम मेंबरशिप प्लान की तारीख 15 अप्रैल तक बढ़ा दी है। इसके बाद एयरटेल, आइडिया और वोडाफोन के लिए समस्या खड़ी हो गई है।

Read Also : रिलायंस जियो ने कर दिया कांड पेश किया हाहाकारी ‘नया प्लान’ एयरटेल पस्त

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *