PM modi Job vacancy india

नई दिल्ली(रिपोर्ट अड्डा):  नरेंद्र मोदी ने 2014 में वादा किया था कि वो एक करोड़ नौकरियों का सृजन करेंगे। सरकार के तीन साल पूरे होने के बाद भी इस दिशा में तेजी से काम नहीं हो पाया है। अब मोदी सरकार ने पूरा ध्यान इस वादे को पूरा करने में लगा दिया है। इसी के साथ सरकार के काम करने की स्पीड भी बढ़ती दिख रही है। चुनावी वादों को पूरी करने के लिए सरकार के विभागों पर दबाव बना रहे हैं। 2014 में किए वादे को पूरा करने के लिए अब सरकार एक्शन मोड में आ गई है। यही कारण है कि अब मोदी सरकार इस दिशा में तेजी से काम कर रही है। मोदी ने सभी विभागों से कहा है कि वो इस तरह का प्रस्ताव पेश करे जिस से नौकरियों के सृजन में मदद मिल सके।

नरेंद्र मोदी ने साफ कहा है कि कैबिनेट के प्रस्तावों पर इस बात पर मंथन किा जाए कि इन प्रस्तावों से कितने रोजगार पैदा होंगे। वाणिज्य मंत्री निर्मला सीतारमण ने भी कहा है कि कई प्रस्ताव में ज्यादा खर्च होता है। हालांकि कोशिश यही रहती है कि इस से ज्यादा रोजगार के मौके मिल सकें। इसी के साथ कौशल बढ़ाने के कार्यक्रम को नए सिरे से तैयार किया जा रहा है। आबादी में ज्यादा हिस्सा युवाओं का होने से विकास में होने वाली बढ़ोतरी अगले 5 साल के उच्चतम स्तर पर पहुंच जाएगी। उस समय तक कामकाजी लोगों की संख्या में ठहराव आ चुका होगा।

उस हालत में कौशल और उद्यमिता को बढ़ावा देना जरूरी होगा। इसी को देखते हुए नीति आयोग ने तीन साल का एक्शन प्लान तैयार किया है। इस प्लान में अलग अलग सेक्टरों में रोजगार सृजन के लिए कदम उठाने के लिए कहा गया है। पीएम मोदी ने पीएमओ से सटीक आंकड़ा निकालने के लिए भी कहा है। आंकड़ा इस बात से संबंधित है कि कितने लोगों को रोजगार के मौके मिले और कितने बेरोजगार हैं। इन आंकड़ों के हिसाब से ही नीतियां बनाई जाएंगी।

बता दें कि पीएम मोदी पहले ही कह चुके हैं कि भारत युवाओं का देश है। कुल आबादी में से 65 फीसदी हिस्सा 35 साल से कम के लोगों का है। भारत में रोजगार सृजन के जितने मौके हैं उतने किसी देश में नहीं है। एक रिपोर्ट के मुताबिक 2012 से लेकर 2016 के बीच भारत में रोजगार के 1.46 करोड़ मौके बने थे। इसके मुताबिक हर साल 36.5 लाख रोजगार दिए गए। कामकाजी लोगों की तादाद में 8.41 करोड़ का इजाफा हुआ। हालांकि वास्तिक लेबर फोर्स में बढ़ोतरी केवल 2.01 करोड़ थी। लेबर फोर्स से केवल 24 फीसदी हिस्सा जुड़ा। वहीं 76 फीसदी हिस्सा इससे बाहर रहा। अ आने वाले समय में मोदी सरकार जल्दी ही अपना वादा पूरा कर सकती है। एक करोड़ रोजगार पैदा होंगे। देश के बेरोजगारों के लिए ये सबसे अच्छी खबर है।

Read Also : पीएम मोदी का मास्टरस्ट्रोक आदिवासी महिला बनेंगी देश की अगली राष्ट्रपति !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *