पीएम मोदी ने बनाया नया कीर्तिमान, ऐसा काम करने वाले देश के पहले नेता बने

pm modi

pm modi

गुजरात चुनाव में प्रचार का आखिरी दिन 12 दिसंबर है। इस दिन सभी दलो ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। पीएम मोदी इसी बीच एक ऐसा रिकॉर्ड बना दिया है जो आज तक कोई भी नहीं बना पाया. उन्होंने ऐसा काम किया है जो देश के इतिहास में कभी किसी नेता ने नहीं किया है। अनोखे तरीकों से प्रचार करने के लिए पीएम मोदी विख्यात हैं. वो संवाद कला में तो माहिर हैं ही, नए नए तरीकों से विरोधियों पर हमला करते हैं। इस बार उन्होंने धरती जल और आकाश से कांग्रेस पर हमला किया।

12 दिसंबर को पीएम मोदी ने सी प्लेन का इस्तेमाल किया, ऐसा करने वाले वो देश के पहले नेता बन गए हैं। दरअसल 12 दिसंबर को पीएम मोदी के रोड शो होने वाले थे, लेकिन सुरक्षा कारणों से वो रद्द हो गए, उसके बाद पीएम मोदी ने 11 दिसंबर को ही एलान कर दिया था कि 12 दिसंबर को देश के इतिहास में पहली बार कोई सी-प्लेन साबरमती नदी पर उतरेगा. उन्होंने कहा कि वो धरोई बांध पर उतरने के बाद सी-प्लेन से अंबाजी जाएंगे। मोदी ने कहा कि  हमारे पास हर जगह हवाईअड्डे नहीं हो सकते, इसलिए हमारी सरकार ने ये सी-प्लेन लाने की योजना बनाई है’

गुजरात चुनाव प्रचार के आखिरी दिन पीएम मोदी ने ये कीर्तिमान सेट करके विरोधियों को गुजरात के विकास की झलक दिखाई, अब आपको उस सी प्लेन की खासियतों के बारे में बता देते हैं जिस पर मोदी सवार हुए थे। सी प्लेन जमीन और जल दोनों से उड़ान भर सकता है और लैंड कर सकता है. जहां पर हवाई अड्डा नहीं, वहां भी इसे आसानी से उतारा जा सकता है. इस प्लेन की डिजाइन कुछ इस तरह से की गई है जिस से ये माल ढुलाई, फसलों पर कीटनाशकों का छिड़काव और एम्बुलेंस का काम भी कर सके।

इस सी प्लेन में एक बार में 10 से 12 लोग बैठ सकते हैं. ये सी प्लेन एक बार में लगातार 5.8 घंटों से लेकर 8.4 घंटों तक उड़ान भर सकता है. उड़ान का टाइम मुसाफिरों की संख्या और माल के वजन पर भी निर्भर करती है।  इस प्लेन की अधिकतम रफ्तार 339 किलोमीटर प्रति घंटा तक है। एक बार में ये प्लेन अधिकतम 2,096 किलोमीटर की दूरी तय कर सकता है. अधिकतम 12,000 फीट की ऊंचाई तक ही जा सकता है। खास बात ये है कि इसे उड़ाने के लिए केवल एक पायलट की जरूरत होती है।