lalu-nitish-modi offer

नई दिल्ली(रिपोर्ट अड्डा) चारा घोटाले के दोषी लालू यादव को सुप्रीम कोर्ट ने बड़ा झटका दिया है। लाालू यादव के खिलाफ चारा घोटाले में फिर से अपराधिक केस चलेगा। इसका ट्रायल 9 महीने में पूरा किया जाएगा। इसके बाद से ही राज्य की महागठबंधन सरकार को लेकर अटकलें लगाई जा रही हैं। बीजेपी फौरन लालू पर हमलावर हो गई। बीजेपी नेता सुशील मोदी ने नीतीश कुमार को घेरे में लिया। कहा अब तो लालू का साथ छोड़ दें। इसके बाद मोदी ने नीतीश को खुला ऑफर दिया।

सुशील मोदी ने नीतीश कुमार को समर्थन का दांव चला है। उन्होंने कहा कि अगर नीतीश लालू के साथ गठबंधन तोड़ दें, तो बीजेपी बिहार में जेडीयू को समर्थन दे सकती है। हालांकि सुशील मोदी ने ये भी कहा कि नीतीश लाालू का साथ नहीं छोड़ेंगे। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद लालू कमजोर हो गए हैं। नीतीश को कमजोर पार्टनर चाहिए। अब वो लालू के बेटों को घुटने के बल टिकाकर रखेंगे। इसी के बाद महागठबंधन में हाहाकार मचा हुआ है।

मोदी के बयान पर जेडीयू केसी त्यागी ने कहा कि मोदी जनता को गुमराह कर रहे हैं। जनता ने पांच साल के लिए महागठबंधन को चुना है। केसी त्यागी भले ही इस बयान को अहमियत न दें। मगर सुशील मोदी के बयान ने महागठबंधऩ में हड़कंप तो मचा ही दिया है। लालू की छवि के कारण नीतीश पहले से विरोध का सामना कर रहे हैं। हाल ही में लालू और जेल में बंद माफिया डॉन शहाबुद्दीन की बातचीत का टेप सामने आया था। अब सभी की निगाहें नीतीश कुमार पर लगी हैं

कहा जा रहा है कि नीतीश जो पहले से लालू से परेशान हैं वो कई बड़ा कदम उठा सकते हैं। पहले ऑडियो टेप और फिर सुप्रीम कोर्ट का फैसला, लालू की मुश्किलें खत्म नहीं हो रही हैं। बता दें कि चारा घोटाले में लालू पर 6 केस दर्ज हैं। एक मामले में उन्हे 5 साल की सजा भी हो चुकी है। सियासी जानकार बता रहे है कि ये नीतीश के लिए सही समय है कि वो लालू से गठबंधन तोड़ दें। अगर नीतीश लालू का साथ छोड़ते हैं तो उनकी छवि और मजबूत हो जाएगी। फिलहाल तेजस्वी और तेज प्रताप परेशान हैं। उनका सत्ता सुख छिन जाएगा।

Read Also : देश की महिलाएं बोली प्रधानमंत्री हो तो मोदी जैसा जिंदगी आसान कर दी !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *