चर्चित राष्ट्रीय

नीतीश कुमार ने पीएम मोदी को बड़े संकट से बचाया, निभाया दोस्ती का फर्ज

narendra modi nitish

नई दिल्ली(रिपोर्ट अड्डा): बिहार के सीएम नीतीश कुमार एनडीए में शामिल हो गए हैं। उनका दल जेडीयू अब एनडीए का हिस्सा है। बिहार में महागठबंधन टूटने के बाद उन्होंने बीजेपी के साथ मिलकर सरकार बनाई थी। बीजेपी से नाता तोड़ने और फिर से वापसी के दौरान उनके पीएम मोदी के साथ संबंध काफी बेहतर हुए हैं। दोनों अक्सर एक दूसरे की तारीफ करते रहे हैं। यही कारण है कि महागठबंधन से निकलने के फौरन बाद ही नीतीश ने बीजेपी के समर्थन से सरकार बना ली थी। मोदी के साथ अपने अच्छए संबंधों के कारण वो बिहार के विकास के लिए तेजी से काम कर रहे हैं। बिहार सरकार को केंद्र सरकार का साथ मिल रहा है। इन सबके हटकर दूसरे मोर्चों पर भी नीतीश मोदी की मदद कर रहे हैं।

कर्नाटक में पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या के मामले में कुछ वामपंथी पत्रकारों ने मोदी को घसीटने की कोशिश की थी। हैरानी की बात ये है कि गौरी लंकेश की हत्या कर्नाटक में हुई, जहां पर कांग्रेस की सरकार है। उसके बाद भी गौरी की हत्या को पीएम मोदी से जोड़ने की नाकाम साजिश की जा रही है। इसी को लेकर नीतीश कुमार ने कांग्रेस पर जोरदार हमला किया है। नीतीश ने कहा है कि कर्नाटक की कांग्रेस सरकार पूरी तरह से विफल रही है। गौरी लंकेश की हत्या को दो हफ्ते से भी ज्यादा का समय हो गया है। लेकिन अभी तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुी। कर्नाटक पुलिस पर किसी तरह का कोई दबाव है। जिसके कारण वो हाथ पर हाथ धरे बैठी है।

नीतीश यहीं पर नहीं रुके, उन्होंने आगे कहा कि कांग्रेस सरकार ने गौरी लंकेश की हत्या के मामले में एक भी गिरफ्तारी नहीं की है। क्या कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी अपने मुख्यमंत्री को इसके लिए नहीं फटकारेंगे। साफ है कि नीतीश ने गौरी लंकेश के मुद्दे पर कांग्रेस पर निशाना साध कर एक तरह से बीजेपी की मदद की है। उन्होंने साफ कर दिया है कि ये घटना राज्य के कानून व्यवस्था का मामला है। इसको केंद्र सरकार के साथ जोड़ने की कोशिश करना बचकाना होगा। अगर राज्य में पुलिस और प्रशासन चौकस होता तो ये घटना नहीं होती। इसी के साथ नीतीश ने राहुल गांधी को वंशवाद वाले बयान पर भी घेरा।

नीतीश ने कहा कि कुछ लोगों को लगता है कि देश वंशवाद से ही आगे बढ़ रहा है। जबकि राजनीति में वंशवाद की शुरूआत ही कांग्रेस ने की थी। कांग्रेस वंशवाद की संस्कृति को राजनीति में लेकर आई थी। उसके बाद ये बीमारी दूसरे दलों में फैल गई। नीतीश ने कहा कि वो हमेशा से वंशवाद का विरोध करते रहे हैं। ये आज की बात नहीं है। नीतीश ने ये भी कहा कि जो लोग बिना वंशवाद के आगे बढ़े हैं उनका प्रदर्शन हमेशा अच्छा रहा है। कुल मिलाकर नीतीश ने कांग्रेस पर हमला करके मोदी के अपनी दोस्ती का फर्जा निभाया है। उनके इस बयान से जहां कांग्रेस तिलमिलाई हुई हैै, वहीं बीजेपी खुश है। गौरी लंकेश हत्याकांड पर इतनी साफगोई से बोलने वाले नीतीश पहले नेता हैं।

रिलेटेड कंटेंट के लिए नीचे स्क्रॉल करे..

Advertisement
Loading...
Advertisement

Leave a Comment