Modi

Modi

युवाओं को आकर्षित करने के लिए केंद्र की मोदी सरकार नई नई स्कीम लांच कर रही है. इसी कड़ी में एक फ्लॉप स्कीम को हिट बनाने की तैयारी के साथ लोगों के बीच में लेकर आई है. सरकार की इस योजना का नाम है भारतीय जनऔषधि केंद्र. इसी स्कीम के जरिए हजारों लोगों को प्रति महीने 25 से 30 हजार रुपए मिल सकेंगे.

दरअसल भारतीय जनऔषधि केंद्र की योजना यूपीए सरकार के दौरान शुरू की गई थी. लेकिन उस दौर में स्कीम फ्लॉप साबित हुई. मोदी के पीएम बनने के बाद उनकी सरकार ने इसे अपनी महात्वाकांक्षी योजनाओं में शामिल किया था. इस योजना का उद्देश्‍य है कि आम आदमी अपना कारोबार शुरू करे और बेरोजगारी दूर हो. जानकारी के मुताबिक पिछले कुछ समय में इस योजना से कई लोगों ने कमाई शुरू की है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अब तक इस स्कीम की मदद से 2,500 से ज्यादा सस्ती दवाओं की दुकान खोली जा चुकी हैं. इस स्कीम के तहत जनऔषधि केंद्र खोलने के लिए भारत सरकार 2.5 लाख रुपए तक का ग्रांट देती है. इसलिए ये उन लोगो के लिए मौका है जो अपना कारोबार शुरू करना चाहते हैं वो चाहे तो इस स्कीम से जुड़कर हर महीने 30 हजार रुपए तक कमा सकते हैं.

ऐसे होगी कमाई

इस योजना के अनुसार जनऔषधि केंद्र के जरिये आप महीने में जितनी दवाएं बेचेंगे, उसका 20 फीसदी कमिशन के रूप में आपको मिलेगा. इसके अलावा सरकार हर महीने बिक्री पर 10 फीसदी का इंसेंटिव भी देगी. कमिशन और इंसेंटिव दोनों आपके बैंक खाते में सीधे आएगा. मिसाल के तौर पर समझें. अगर आप एक महीने में 1 लाख रुपए तक की दवा बेच पाते हैं तो उसे मंथली 25 से 30 हजार रुपए तक इनकम हो जायेगी. कमिशन की कोई सीमा नहीं है, जितनी दवा बिकेंगी, कमिशन उतना ज्यादा मिलेगा हालांकि, सरकार ने इंसेंटिव की सीमा 10 हजार अधिकतम तय की है.

2.5 लाख की मदद सरकार के द्वारा

अगर आप जान औषिधि केंद्र खोलते हैं तो सरकार की तरफ से 2.5 लैख रुपये की मदद की जायेगी. सेंटर खोलने वालों को 650 से ज्यादा दवाएं उपलब्ध करवाई जाएंगी. सरकार ने इसके लिए आवेदन फीस और प्रॉसेसिंग फीस को भी खत्म कर दिया है.

जान औषिधि शुरू करने पर दवाओं का पहला स्टॉक आपको खरीदना पड़ेगा. मतलब की आपको 1 लैख रुपये का स्टॉक खरीदना पड़ेगा. सरकार की तरफ से ये राशि आपको रीइम्बर्स करा दी जायेगी. इसके अलावा सेंटर के लिए जरुरी सामान, जैसे की फ्रीज वगेरह खरीदने के लिए आपको 1 लाख रुपये और मिलेगा. सेंटर को कंप्यूटरीकृत करने के लिए 50 हजार रूपए की राशि भी दी जायेगी.

ऐसे कर सकते हैं आवेदन

जान औषिधि केंद्र खोलने के लिए आपके पास रिटेल ड्रग बिक्री का लाइसेंस होना चाहिए. लाइसेंस जन औषधि केंद्र के नाम से ही होगा तब ही आपको ग्रांट का फ़ायदा मिलेगा. स्टोर खोलने के लिए आवेदन फॉर्म http://janaushadhi.gov.in/ से डाउनलोड होगा. इसके बाद एप्लीकेशन को इस पते पर भेंजें.

Bureau of Pharma Public Sector Undertakings of India(BPPI) 8th Floor, Videocon Tower, Block E-1, Jhandewalan Extension, New Delhi-110055

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *