mobile aadhar

आप भी मोबाइल यूजर हैं तो इस बात से वाकिफ होंगे कि मोबाइल नंबर को आधार से लिंक कराना बहुत जरूरी हो गया है। सरकार ने इसे अनिवार्य कर दिया है। हालांकि कई लोग इसे निजता की बात कह कर विरोध भी कर रहे हैं। लेकिन लिंक तो फिर भी कराना ही होगा। ऐसे में जिन लोगों ने अपना मोबाइल नंबर आधार से लिंक नहीं करवाया है तो परेशान होने की जरूरत नहीं है। आपके पास भी रोज मैसेज आते होंगे कि अपने नंबर को आधार से लिंक करवाएं।

मोबाइल नंबर को आधार से लिंक करवाने के लिए स्टोर जाना पड़ता है. आज के बिजी समय में किसके पास इतना समय है कि वो स्टोर में जाकर लाइन लगाकर अपना नंबर आधार से लिंक करवाए। लेकिन अब ऐसा नहीं करना पड़ेगा। UIDAI ने टेलीकॉम कंपनियों के आधार से सिम लिंक करने के तीन नए नियमों को मंजूरी दे दी है। एक दिसंबर से आप घर बैठे अपने नंबर का रि-वैरिफिकेशन करवा सकते हैं. मोबाइल कंपनियां ग्राहकों के नंबर को वन टाइम पासवर्ड, इंटरेक्टिव वॉइस रिस्पॉन्स सिस्टम और मोबाइल एप के जरिए नंबर रि-वैरिफिकेशन का ऑप्शन दे रही हैं.

इस मामले पर UIDAI के सीईओ अजय भूषण पांडे का कहना है कि टेलीकॉम कंपनियों के तीन नए प्लान को मंजूरी दे दी गई है। कंपनियों से कहा गया है कि वो इस प्रक्रिया को 1 दिसंबर से लागू कर दें। इसकी खास बात ये है कि घर बैठे वैरिफिकेशन उन्हीं यूजर्स का हो सकेगा जिनका नंबर पहले से ही आधार के डेटाबेस में उपलब्ध हो. इसके अलावा बाकी नंबरों के लिए कस्टमर को कंपनी के स्टोर पर जाना होगा.

यहां पर आपको ये भी बता दें कि मोबाइल नंबर को आधार कार्ड से लिंक कराने की आखिरी तारीख 6 फरवरी है। इसके पहले अगर आपने अपना नंबर लिंक नहीं कराया तो वो बंद हो जाएगा। टेलीकॉम विभाग ने वरिष्ठ नागरिकों, दिव्यांग और गंभीर बीमारी से ग्रस्त लोगों की आसानी के लिए दूरसंचार विभाग ने उपभोक्ताओं के दरवाजे पर रि- वैरिफिकेशन के निर्देश दिए हैं। इसके साथ ही टेलीकॉम विभाग ने ए आईरिस या फिंगरप्रिंट आधारित वैरिफिकेशन करने के लिए टेलीकॉम ऑपरेटर्स को निर्देश दिए हैं। तो अब आपको मोबाइल नंबर को आधार से लिंक कराने के लिए स्टोर जाने की जरूरत नहीं है। अब से ये घर बैठे भी हो जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *