Kejriwal plans to defeat the BJP in Uttar Pradesh

नई दिल्ली (रिपोर्ट अड्डा): BJP के साथ अपनी राजनितिक लड़ाई को आगे ले जाते हुए आम आदमी पार्टी ने फैसला किया हैं कि वह उत्तर प्रदेश में BJP के खिलाफ सक्रिय रूप से प्रचार प्रसार करेगी। केजरीवाल के नेतृत्व वाली आम आदमी पार्टी ने घोषणा कि हैं कि चुनावी लड़ाई में भाग ना लेने के वाबजूद यूपी के आगामी विधान सभा चुनाव में BJP के खिलाफ प्रचार करेगी। हालांकि आम आदमी पार्टी यूपी के चुनावी अखाड़े से खुद को दूर रखेगी।

AAP के प्रवक्ता वैभव माहेश्वरी ने कहा कि गोवा और पंजाब जहाँ आम आदमी पार्टी चुनाव लड़ रही है। वहाँ की चुनावी प्रक्रिया पुरे होने के बाद, पार्टी के सभी नेता उत्तर प्रदेश में BJP को बेनकाब करने पर ध्यान देंगे। जिसने देश को धोखा दिया और जो राष्ट्रीय राजनीति की सबसे बड़ी खलनायक है। उन्होंने कहा कि AAP के वरिष्ठ नेताओं के कार्यक्रम जल्द ही तय किये जाएंगे। वे सभी केंद्र में सत्तासीन BJP के खिलाफ प्रचार करेंगे। ताकि लोगों के सामने उनका असली चेहरा सामने लाया जा सके और बताया जा सके कि क्या होगा अगर राज्य में उन्हें चुना गया।

आप प्रवक्ता माहेश्वरी ने बताया कि यूपी में BJP के खिलाफ आप का अभियान पहले से ही चल रहा है।

गौरतलब है कि यूपी में 4feb से 8march तक 7 चरणों में चुनाव होने वाला है। जिसके नतीजे 11 march को आएंगे। माहेश्वरी ने बताया कि BJP नोटबन्दी को मुख्य मुद्दा बना कर चुनाव लड़ रही है। जिसे आप अब तक का सबसे बड़ा घोटाला मानती है। इसे इस रूप में देखा जा सकता है कि ये एक नई तरह की राजनीति है, जहाँ एक पार्टी अपनी ऊर्जा और धन चुनाव में लगाएगी, उस चुनाव में, जिसमें उसे कुछ नहीं मिलने वाला है।

आप प्रवक्ता ने चुनाव में आप के खड़ा ना होने की बात पर संसाधनों की कमी को कारण बताया। लेकिन, आप के अभियान से स्पष्ट है कि पार्टी किसी ना किसी तरह यूपी में अपनी मौजूदगी दर्ज करेगी।
यूपी में अपनी मौजूदगी दर्शाने के लिए आप पार्टी चुनाव के दौरान चुप बैठने वाली नहीं। पार्टी ने कायकर्ताओं से कहा है कि वे चुनाव के दौरान हाथ पर हाथ धर कर ना बैठें। लोगों के बीच जा कर जनता को भाजपा की नीतियों से होने वाले खतरों के प्रति आगाह करें। अवध जोन के संयोजक अविनाश त्रिपाठी के मुताबिक कार्यकर्त्ता फेजवार सभी जिलों में घूम-घूम कर प्रचार करेंगे।

आप BJP के खिलाफ प्रचार जरूर करेगी। लेकिन, किसी भी पार्टी के पक्ष में मतदान के लिए राय भी नहीं देगी। हाईकमान का कहना है कि यूपी में भाजपा के खिलाफ अभियान चलाएं पर किसी दल को वोट करने के लिए जनता को राय देने से बचे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *