केजरीवाल सरकार ने एसीबी चीफ मीणा को जारी किया नोटिस

ACB-meena

नई दिल्ली (NBT)  : दिल्ली में ऐंटी करप्शन ब्यूरो (एसीबी) और जॉइंट कमिश्नर मुकेश कुमार मीणा को केजरीवाल सरकार ने नोटिस भेजा है। इस नोटिस में एमके मीणा पर कई आरोप लगाए गए हैं, जिनमें से एक अपने अधीन काम करने वाले कर्मचारियों को परेशान करना भी है। मीणा को जवाब देने के लिए 10 दिनों का वक्त दिया गया है। 

केजरीवाल सरकार का एसीबी चीफ पर आरोप है कि वह मनमाने तरीके से काम करते हैं और अपने मातहतों को काफी परेशान करते हैं। उनसे इस मसले पर जवाब मांगा गया है और 10 दिन के अंदर जवाब न देने पर जांच करवाने की बात कही गई है। वैसे दिल्ली सरकार और एसीबी चीफ के बीच यह खींचतान कोई नई नहीं है। 

Read Also : Act or hand over Delhi police to us, Kejriwal to PM

इससे पहले जून में केजरीवाल सरकार ने एसीबी चीफ के खिलाफ हाई कोर्ट में याचिका दायर की थी, जिसमें मीणा की नियुक्ति पर सवाल उठाते हुए इसे गैरकानूनी और असंवैधानिक बताया गया था। याचिका में सरकार ने दलील दी थी कि जिस व्यक्ति पर पहले से जांच चल रही हो, उसे चीफ कैसे बनाया जा सकता है। 

गौरतलब है कि जून के पहले सप्ताह में ही दिल्ली के उपराज्यपाल नजीब जंग ने केजरीवाल सरकार की पसंद एसएस यादव की एसीबी चीफ के पद से छुट्टी कर एमके मीणा को नया एसीबी चीफ बनाया था। उस समय दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने इस नियुक्ति को साजिश बताया था। 

Read Also : केजरीवाल का इंटरव्यूः मोदी ने रोका मेरा करप्शन के खिलाफ अभियान

जब से मीणा की एसीबी चीफ पद पर नियुक्ति हुई है, उनकी दिल्ली सरकार के साथ लगातार खींचतान चल रही है। 20 लाख के घोटाले में शामिल होने का आरोप लगाते हुए दिल्ली सरकार ने मीणा के खिलाफ जांच के आदेश भी दिए थे।

SHARE