Kejriwal CBI raid Delhi

नई दिल्ली(रिपोर्ट अड्डा): एक बार फइर से केजरीवाल और केंद्र सरकार के बीच टकराव की स्थिति बन रही है। सीबीआई ने दिल्ली सचिवालय पर फिर से छापा मारा है। सीबीआई ने दिल्ली सचिवालय के साथ साथ 6 और ठिकानों पर भी छापेमारी की है। सीबीआई की रेड डॉ तरुण सेन के ठिकानों पर की गई है। तरुण सेन फिलहाल डायरेक्टर के पद पर तैनात हैं। उन पर 10 करोड़ रूपये के फर्जीवाड़े का आरोप है।

तरुण सेन पर आरोप है कि उन्होंने उन्होंने एक निजी कंपनी को टेंडर देकर फायदा पहुंचाया है। सीबीआई की इस कार्रवाई के बाद फिर से केंद्र सरकार और केजरीवाल के बीच टकराव की जमीन तैयार हो रही है। इस से पहले सीबीआई ने केजरीवाल के प्रधान सचिव राजेंद्र कुमार के दफ्तर पर छापेमारी की थी। इस छापेमारी को भी राजेंद्र कुमार से जोड़कर देखा जा रहा है।

बता दें कि सीबीआई ने केजरीवाल के प्रधान सचिव रहे राजेंद्र कुमार के साथ 8 लोगों और इंडीवर सिस्टम प्राइवेट लिमिटेड के खिलाफ अपराधिक साजिश और धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है। इन मामलों में सीबीआई ने चार्जशीट भी दखिल की है। राजेंद्र कुमार पर आरोप है कि दिल्ली सरकार में अहम पदों पर रहते हुए उन्होंने निजी कंपनियों को फायदा पहुंचाया है। राजेंद्र कुमार के खिलाफ सीबीआई की रेड को केजरीवाल ने राजनीतिक साजिश बताया था।

अब एक बार फिर से दिल्ली सचिवालय पर सीबीआई ने रेड मारी है। साफ है कि इसके बाद केंद्र सरकार और दिल्ली सरकार के बीच टकराव बढ़ सकता है। आपको बता दें कि हाल ही में शुंगली कमेटी के रिपोर्ट से खुलासा हुआ था कि केजरीवाल सरकार ने नियमों को ताक पर रख कर कई फैसले लिए हैं। भ्रष्टाचार और अपने करीबियों को फायदा पहुंचाने के आरोप भी केजरीवाल पर लगे हैं। हाल के दिनों में लगातार हार से परेशान पार्टी के लिए ये एक और झटका साबित हो सकता है।

Read Also : मोदी का अपमान करके केजरीवाल अपने जीवन के सबसे कठिन दौर में पहुँच गए, सब छोड़ देंगे साथ !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *