Indian Soldier

Indian Soldier

भारत और पाकिस्तान के कूटनीतिक तनाव में हजारो जवान पीस रहे है. कुछ पाकिस्तानी सैनिक हमारी जेलों में जिंदगियां बिता रहे हैं तो कुछ भारतीय सैनिक पाकिस्तान की जेलों में नरक जैसा जीवन जीने को मजबूर हैं. सियासतदान तो दुश्मनों को देखते हुए हँसते मुस्कुराते हुए तस्वीरें खिंचा लेते हैं लेकिन सेना के जवान हर वक़्त अपने इरादे साफ़ रखते हैं.

पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय सैनिकों का दर्द चिट्ठी से भारत आता है. वह की जेल में बंद भारिया जवान संजय को पढ़े होने फ़ायदा मिला. उन्हें वहां मुंशी का काम सौप दिया गया है. उन्होंने अपने परिवार के नाम एक चिट्ठी लिखी है, जो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है.

चिठ्ठी में क्या लिखा है

संजय ने अपने पिता के नाम लिखे पत्र में अपने दर्द को छिपाने की कोशिश की है, वो लिखते हैं कि मैं यहाँ बिलकुल ठीक हूँ, उस जेल में बंद हूँ जहाँ 500 से ज्यादा मछुवारों को रख गया हैं. उन्होंने लिखा की अगर विदेश मंत्रालय से फैक्स आ गया तो अगले साल जनवरी तक मेरी रिहाई हो जायेगी. संजय ने चिठ्ठी में पूछा है कि मेरा बेटा कैसा है और वो कैसा दिखने लगा है.

Indian Soldier

आपकी जानकारी के लिए बता दें संजय और उनके 2 और साथियों को पाकिस्तान के सैनिकों ने बॉर्डर पर पकड़ लिए था, अक्टूबर 2015 से वो वहां की लांघी जेल में बंद हैं. संजय चिठी में लिखते हैं की मैं जिस जेल में ठहरा हूँ वहां 43 और भारतीयों को, पाकिस्तान के सैनिक लेकर आये हैं. वो दिन रात रोते रहते हैं. मुझे भी घर की बहुत याद आती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *