bharat

bharat
दुनिया के आर्थिक हालात तेजी से बदल रहे हैं, कई बड़े देशों की अर्थव्यवस्था डांवाडोल हैं, ऐसे में सभी की नजरें एशिया पर लगी हुई हैं, एशिया के दो देश चीन और भारत दुनिया के लिए कौतूहल का विषय हैं, खास तौर पर भारत की अर्थव्यवस्था की रफ्तार सभी को हैरान कर रही है,. माना जा रहा है कि भारत आर्थिक तरक्की के मामले में आने वाले सालों में चीन को पीछे छोड़ देगा। भारत की तरक्की और समृद्धि का अंदाजा न्यू वर्ल्ड वेल्थ की रिपोर्ट से भी लगता है। ये रिपोर्ट मोदी सरकार के विरोधियों के लिए अच्छी नहीं है, बाकि सभी के लिए अच्छी है।

इस रिपोर्ट के मुताबिक भारत दुनिया के अमीर देशों की लिस्ट में छठे नंबर पर है। भारत की कुल संपत्ति 8,230 अरब डॉलर है। ये भारत के लिए अच्छी खबर है, इस लिस्ट में अमेरिका पहले नंबर पर है। अमेरिका की कुल संपत्ति 64,584 अरब डॉलर है। वो दुनिया का सबसे धनी देश है। इस लिस्ट में भारत का छठे नंबर पर आना बहुत बड़ी बात है। न्यू वर्ल्ड वेल्थ की रिपोर्ट में दूसरे नंबर पर चीन है,. चीन की कुल संपत्ति 24,803 अरब डॉलर है।

तीसरे स्थान पर जापान है, जिसकी कुल संपत्ति 19,522 अरब डॉलर है। बता दें कि कुल संपत्ति से मतलब हर देश/शहर में रहने वाले सभी व्यक्तियों की निजी संपत्ति से है। इसमें उनकी देनदारियों को घटाकर सभी संपत्तियां जैसे प्रॉपर्टी, कैश, शेयर, कारोबार में हिस्सेदारी को शामिल किया गया है। इस रिपोर्ट में ब्रिटेन को चौथा नंबर मिला है। जिसकी कुल संपत्ति 9,919 अरब डॉलरहै, जर्मनी 9,660 अरब डॉलर के साथ पांचवे नंबर पर है।

फ्रांस 6,649 अरब डॉलर के साथ सातवे नंबर पर है। कनाडा 6,393 अरब डॉलर के साथ आठवे नंबर पर है। ऑस्ट्रेलिया 6,142 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ नौवे नंबर पर है, जबकि4,276 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ इटली दसवें नंबर पर है। रिपोर्ट में भारत का प्रदर्शन सबसे शानदार है, भारत की कुल संपत्ति 2016 में 6,584 अरब डॉलर से बढ़कर 2017 में 8,230 अरब डॉलर हो गई है। इसमें 25 फीसदी की बढ़त दर्ज की गई है। मोदी सरकार जिस तरह से आर्थिक सुधारों को लागू कर रही है उस से आने वाले समय में भारत की संपत्ति और बढ़ सकती है बता दें कि इस रिपोर्ट में सरकारी पैसे को शामिल नहीं किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *