International Monetary Fund

International Monetary Fund

इंटरनैशनल मॉनिटरी फंड के 10 शीर्ष बड़े सदस्यों के तौर पर उभरते मार्केट्स के अन्य साथियों के साथ भारत भी यूएस, जापान, फ्रांस के लीग में शामिल होगा। यूएस संसद ने 2010 से लंबित अहम कोटा सुधार को मंजूरी दे दी है।

तब से ही नई दिल्ली ने लंबित कोटा सुधारों को आगे बढ़ाया था। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने लिमा में पिछली बार फंड बैंक की मीटिंग में इस मामले को पुरजोर तरीके से उठाया था। दिसंबर 2010 के आईएमएफ के कोटा सुधारों के तहत विकासशील देशों के पक्ष में कोटा में 6 फीसदी से ज्यादा शिफ्ट होगा। इंडिया का वोट शेयर मौजूदा 2.34 फीसदी से बढ़कर 2.69 फीसदी हो जाएगा।

चार उभरते मार्केट वाले देश (ब्राजील, चीन, भारत और रूस) आईएमएफ के दस बड़े सदस्यों के तौर पर शामिल होंगे। अन्य टॉप 10 सदस्यों में संयुक्त राज्य और चार यूरोपीय देश (फ्रांस, जर्मनी, इटली व यूनाइटेड किंगडम) हैं।

Read Also पीएम मोदी के विदेशी दौरों से कैसे भर रहा है देश का खजाना!

शुक्रवार को आईएमएफ के एक बयान में कहा गया, आईएमएफ के गरीब देशों के कोटा शेयर और वोटिंग पावर की रक्षा की जाएगी।

आईएमएफ की मैनेजिंग डायरेक्टर क्रिस्टिन लगार्डी ने बताया, ‘संयुक्त राज्य की संसद की इन सुधारों को मंजूरी एक स्वागतयोग्य और अहम कदम है जो वैश्विक वित्तीय स्थिरता के लिए सहायता देने की आईएमएफ की भूमिका को मजबूत करेगा।

Source

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *