मोदी के मंत्री का खुला ऐलान, राम मंदिर और दो बच्चों के कानून के लिये राजनीति से भी संन्यास ले लूंगा

केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि वो राम मंदिर और जनसंख्या कानून के लिये मंत्री पद ही नहीं बल्कि राजनीति भी छोड़ सकते हैं, उन्होने राम मंदिर और हिंदुओं की दुर्दशा के लिये कांग्रेस को जिम्मेदार बताया।

New Delhi, Nov 01 : बीजेपी के फायरब्रांड नेता और मोदी सरकार में मंत्री गिरिराज सिंह अकसर अपने बयानों की वजह से सुर्खियों में रहते हैं, अब एक फिर उन्होने ऐसा बयान दिया है, जिसकी खूब चर्चा हो रही है। केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि वो राम मंदिर और जनसंख्या कानून के लिये मंत्री पद ही नहीं बल्कि राजनीति भी छोड़ सकते हैं, उन्होने राम मंदिर और हिंदुओं की दुर्दशा के लिये कांग्रेस को जिम्मेदार बताते हुए कहा कि यदि नेहरु के बदले पटेल पहले पीएम होते तो कश्मीर समेत अन्य समस्याएं देश के सामने नहीं खड़ी होती।

वोटों के खातिर नेहरु ने ये सब किया
मोदी सरकार में मंत्री गिरिराज सिंह ने कहा कि देश का बंटवारा धर्म के आधार पर हुई था, लेकिन पंडित जवाहर लाल नेहरु ने मुस्लिम वोटों के खातिर अयोध्या, काशी और मथुरा का समाधान नहीं होने दिया। इसके साथ ही उन्होने कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल पर भी निशाना साधा, उन्होने कहा कि सिब्बल सुप्रीम कोर्ट में राम मंदिर की सुनवाई चुनाव तक टालने की दलील दे रहे हैं।

राम मंदिर बीजेपी के एजेंडे में शीर्ष पर
गिरिराज सिंह ने सुप्रीम कोर्ट द्वारा राम मंदिर मामले पर जनवरी तक सुनवाई टालने के सवाल पर दुख जाहिर करते हुए कहा कि सुप्रीम कोर्ट करोड़ों लोगों की भावनाओं से जुड़े इस मुद्दे की सुनवाई टालकर क्यों उनकी भावनाओं को आहत करना चाहती हैं, राम मंदिर बीजेपी के एजेंडे में शीर्ष पर है, और उनकी पार्टी चुनाव से पहले ही इसके लिये कोई ठोस कदम उठाएगी।

राजनीति से ले लेंगे सन्यास
मंत्री ने आगे बोलते हुए कहा कि यदि जरुरत पड़ी तो हिंदुत्व की रक्षा के लिये वो राजनीति से भी सन्यास ले लेंगे, बिहार में जदयू-बीजेपी के बीच सीटों के बंटवारे को लेकर उनसे सवाल किया गया, तो उन्होने इस पर कोई भी टिप्पणी करने से मना कर दिया। आपको बता दें गिरिराज सिंह फिलहाल नवादा सीट से सांसद हैं, उम्मीद की जा रही है कि 2019 लोकसभा चुनाव में वो बेगूसराय से चुनाव लड़ेंगे।

गाय अर्थनीति का हिस्सा
केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि गाय अब मॉब लिंचिंग का कारण नहीं बल्कि आमदनी का अच्छा स्त्रोत बनेगी, उनका विभाग गाय के गोबर और मूत्र से कई उत्पाद बनाने जा रही है, प्राइमरी परीक्षण हो चुका है, जल्दी ही गाय देश की अर्थव्यवस्था की रीढ बनेगी। उन्होने कहा कि गाय के गोबर से पेपर और अन्य कई उत्पाद बनाने में सफलता हासिल की है, साथ ही गोबर से अधिक गुणवत्ता वाला कंपोस्ट खाद भी तैयार किया जा रहा है, जो रसायनिक खाद की जगह लेगा।