Breatharianism

Breatharianism

साधू सन्यासियों के बारे में सुना है कि वो सालों तक कुछ नहीं खाते थे लेकिन अगर आपको बताएं कि आम आदमी भी ऐसा कर सकते हैं तो आप चौंक जाएंगे। हाल ही में कैलिफोर्निया में एक कपल का मामला सामने आया है जिनका दावा है कि पिछले नौ सालों से उन्होंने भोजन नहीं किया है। बावजूद इसके दोनों बिल्कुल स्वस्थ्य और ऊर्जावान हैं। Akahi Ricardo और Camila Castello नाम के इन दंपत्ति का मानना है कि इंसान को जीने के लिए खाना और पानी बिलकुल भी जरूरी नहीं है। इंसान सिर्फ ब्रह्माण्ड की ऊर्जा के सहारे ही जिंदा रह सकता है। और वे ये साबित करके भी दिखा रहे हैं.

Camila और Akahi ने साल 2008 में ही खाना छोड़ दिया था। शुरू के तीन सालों तक तो दोनों ने कुछ भी नहीं खाया। बाद में कभी कभी फल या सब्जी का एक टुकड़ा खाना शुरू किया। वो भी हफ्ते दो या तीन बार से ज्यादा नहीं। वह भी इसलिए क्योंकि कई बार ऐसी सामाजिक परिस्थितियों में फंस जाते हैं जहां उन्हें कुछ न कुछ खाना ही पड़ता है।इस कपल के दो बच्चे हैं। एक 05 साल का बेटा और एक दो साल की बेटी।

Breatharianism
गर्भावस्था में डॉक्टर महिला को खास खुराक लेने की सलाह देते हैं लेकिन उन्होंने कुछ नहीं खाया। आपको जानकर हैरानी होगी कि उनके बच्चे बिल्कुल स्वस्थ्य हैं। साल 2008 में जब कपल ने शादी की थी तभी तय किया था कि वे Food free lifestyle अपनाएंगे और उन्होंने ऐसा किया भी। अब दोनों दुनिया की सैर करते रहते हैं, क्योंकि उनका खाने का तो कोई खर्चा है नहीं।

Akahi बताते हैं कि एक बार उनके एक दोस्त ने उन्हें हवा के सहारे जिंदा रहने की बात बताई जिसे Breatharianism कहते हैं। शुरुआत में वो शाकाहारी बने फिर धीरे-धीरे खाना छोड़ दिया। वो बताते हैं कि शुरु में खाना धीरे-धीरे बंद किया और सिर्फ पानी और फलों के रस के सहारे जिन्दा रहे। अब वो बताते हैं कि 21 दिनों के बाद उन्हें उन्हे भूख का अहसास होना बंद हो गया है अब सिर्फ सांस लेने से ही ऊर्जा मिलती है। अब दोनो पति पत्नि Breatharianism, यानी कि हवा के सहारे जिंदा रहने की तरकीब का कोर्स चलाते हैं।

Breatharianism

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *