चर्चित धार्मिक राष्ट्रीय

मुसलमान हूं इसलिए टारगेट किया जा रहा: नसीरुद्दीन शाह

naseeruddin shah

मुंबई : मुंबई में पाकिस्तान के पूर्व विदेश मंत्री की किताब के लॉन्चिंग समारोह में बॉलिवुड के जाने-माने ऐक्टर नसीरुद्दीन शाह ने कहा था कि पाकिस्तान की अच्छी चीजों की भारत की तरफ से तारीफ होनी चाहिए। इसके बाद से शाह को ट्विटर पर हमला झेलना पड़ा था। बुधवार को नसीर ने इंडिया टुडे से इंटरव्यू में कहा कि उन्हें मुस्लिम होने के कारण टारगेट किया गया।

उन्होंने कहा, ‘मेरा नाम नसीरुद्दीन शाह है और मुझे लगता है कि इसीलिए मुझे टारगेट किया जा रहा है। ऐसा कहते हुए मुझे बहुत दुःख होता है। इस देश में मैंने कभी भी अपनी मजहबी पहचान के साथ नहीं जिया।’

शाह ने कहा, ‘चार पीढ़ियों से हमारे परिवार को लोग इस देश में रह रहे हैं। मुझे भारतीय होने पर फख्र है। मैं किसी को भी अपनी देशभक्ति पर सवाल खड़े करने की अनुमति नहीं दूंगा।’ इस 66 साल के अभिनेता से पूछा गया कि पाकिस्तान की अच्छी चीजों की प्रशंसा करना भारत विरोधी कैसे हो जाता है? इस सवाल पर शाह ने कहा, ‘यदि मैं कहता हूं कि इमरान खान महान क्रिकेटर हैं तो क्या इसका मतलब यह हुआ कि सुनील गावसकर उनसे कमतर हैं? नफरत के सौदागर कुछ इसी तरह इस बात को लेते हैं।’

दादरी वारदात के विरोध में अब तक 40 लेखकों ने अवॉर्ड वापस कर दिए हैं। दादरी के बिसाहड़ा गांव में एक 55 साल के एक मुस्लिम शख्स की हिंसक भीड़ ने गोमांस रखने और खाने की अफवाह पर पीट-पीटकर हत्या कर दी थी। शाह ने कहा कि हम इस तरह की हरकतों पर चुप नहीं रह सकते। मैं उन लेखकों को शुभकामनाएं देता हूं जिन्होंने विरोध में अवॉर्ड वापस कर दिए। शाह ने कहा कि अवॉर्ड मेरे लिए कुछ भी नहीं है लेकिन इसे वापस करने की जहमत भी नहीं उठाऊंगा। नसीर को पद्म भूषण, संगीत नाटक अकादमी और अन्य प्रतिष्ठित सम्मान मिले हैं।

NBT

Advertisement

रिलेटेड कंटेंट के लिए नीचे स्क्रॉल करे..

Loading...
Advertisement

2 Comments

  • नसिर साहब ,:जनाब, मैं आपकी बहुत ईज्जत करता हूँ ।
    आपके इस तरह के वक्तव्य से तकलीफ होती है।
    आपका उम्र कहीं इस गैरवाजिब बातों का
    जिम्मेदार तो नहीं ?????

  • The most Prosperous n Happiest man, leading a very Luxurious life, n playing in Crores is blaming others for his own FLAW, under the age-old Garb of being a MUSLIM to instigate others n to spread a canard against Peace-loving communities n the Administratively Efficient n Just Govt, led by the Most Honest P.M. so far since the Independance, from the Ist P.M. TO the one prior to Mr. Modi.
    2. Shame for such Machiavellian, Shrewd n diplomatic Utterances n Unnecessary Outbursts, tinged with Communal Passions , esp on the Festive season of the Muslims n the Hindus.

Leave a Comment