पूजा घर में भूल कर भी न लगाएं ये तस्वीर, नहीं तो हो जाएगा अनर्थ !

पूजा घर में न लगाएं इनकी तस्वीर

पूजा घर में न लगाएं इनकी तस्वीर

नई दिल्ली(रिपोर्ट अड्डा): हमारे हिन्दू धर्म में पूजा और पूजा स्थल का काफी महत्व है। हिंदू धर्म में प्रतिदिन पूजा करना जरूरी माना जाता है। ऐसा करने से भगवान प्रसन्न होते हैं और घर में सुख और शांति बनी रहती है। पूजा करने की विधि होती है। रोज ध्यान लगाने से भी कल्याण होता है। इन सबके अलावा पूजा घर की स्थापना करते समय भी काफी सावधानी बरतनी चाहिए। पूजा घर में भगवान की तस्वीरों और मूर्तियों को कैसे स्थापित करना चाहिए। किनकी तस्वीर लगानी चाहिए और किनकी नहीं इस बारे में विस्तार से लिखा गया है। हम आपको बताने वाले हैं कि पूजा घर में किसकी तस्वीर नहीं लगानी चाहिए। अगर आपने इनकी तस्वीर लगाई तो अनर्थ होने की आशंका रहती है।

अक्सर आपने देखा होगा कि पूजा घरों में भगवान और देवी देवताओं की मूर्तियों के साथ साथ गुरुओं और पूर्वजों की तस्वीरें भी रखी रहती हैं। संत महात्मा की तस्वीरें भी होती हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि पूजा घर में न लगाएं इनकी तस्वीरऐसा करने से भगवान कुपित हो जाते हैं। ऐसा नहीं करना चाहिए। आप अपने पूर्वजों की इज्जत करते हैं, उनको प्यार और सम्मान से याद करते हैं लेकिन भूल कर भी उनकी तस्वीर पूजा घर में न लगाएं। शास्त्रों एक मुताबिक कभी भी पूजा घर में मृत व्यक्ति की कोई भी वस्तु या तस्वीर नहीं लगानी चाहिए। ये अशुभ माना जाता है।

अगर आप भी ऐसा करते हैं तो फौरन वो तस्वीर हटा दें, शास्त्रों के अनुसार ये अशुभ है। ऐसा करने से आपकी पूजा बेकार हो जाती है और घर-परिवार पर संकट भी आते हैं।पूजा घर के अलावा पूजा घर की दीवारों पर भी मृत परिजनों की तस्वीर नहीं होनी चाहिए। ऐसा माना जाता है कि ऐसा करने से देवी-देवतापूजा घर में न लगाएं इनकी तस्वीर क्रोधित हो जाते हैं। इसके अलावा वास्तु के मुताबिक में पूजा घर से संबंधित खास नियम हैं। हम आपको बताएंगे कि पूजा घर कैसा होना चाहिए। वास्तु के अनुसार पूजा घर हमेशा उत्तर-पूर्व दिशा में होना चाहिए। आप उत्तर या पूर्व दिशा भी चुन सकते हैं। बता दें कि वास्तु और शास्त्रों में उत्तर-पूर्व दिशा पूजा घर के लिए सर्वश्रेष्ठ मानी गई है।

अगर आप अपने पूर्वजों से बहुत प्यार करते हैं और घर में उनकी तस्वीर लगना चाहते हैं तो इसके लिए भी उपाय है। मृत परिजनों की तस्वीरों को लगाने के लिए आप घर की दक्षिण, दक्षिण-पश्चिम और पश्चिम दिशा को चुन सकते हैं। इन दिशाओं के अलावा कहीं पूर्वजों की तस्वीर लगाई तो घर में नेगेटिव एनर्जी पूजा घर में न लगाएं इनकी तस्वीरआती है। इसका असर परिवार के लोगों की मानसिक स्थिति पर पड़ता है। कहा जाता है कि मनुष्य भगवान से ऊपर नहीं हो सकता है। ईश्वर हमेशा सर्वोच्च रहता है। उसकी बराबरी में पूर्वजों की तस्वीर लगाना ठीक नहीं है। अगर आप फिर भी अपने पूर्वजों की तस्वीर पूजा घर में लगाना चाहते हैं तो उनकी तस्वीर भगवान की मूर्ति या तस्वीर से नीच रखें।

Read Also  : Video: ध्यान करने की विधि, इन आसान तरीकों से करें मन को शांत

Read Also  : बच्चे पैदा करने का तरीका, सबसे सही समय गर्भधारण के लिए ये है !