Dead body was put on the shoulder when the stretcher was not found

Dead body was put on the shoulder when the stretcher was not foundएक तरफ उत्तर प्रदेश की सुरक्षा व्यवस्था सवालों के घेरे में है, तो वहीं दूसरी तरफ यूपी की प्रशासनिक लचर व्यवस्था का एक और नमूना देखने को मिला. उत्तर प्रदेश के संबलपुर में शुक्रवार को एक मृतक के परिवार वालों को एंबुलेंस मुहैया नहीं कराई गई. आखिर में मजबूर होकर परिवार वालों को डेड बॉडी को कंधे पर लादना पड़ा. जानकारी के मुताबिक जो शख्स पार्थिव शरीर को कंधे पर रख कर चला है, मृतक उसका नाना था. जोकि खेत पर काम करने के दौरान हादसे का शिकार हो गया था. घायल अवस्था में उसे अस्पताल पहुंचाया गया लेकिन वहां उसे मृत घोषित कर दिया गया.

मृतक के परिवार वालों ने अस्पताल से शव को घर ले जाने के लिए एंबुलेंस की गुहार लगाई थी. लेकिन अस्पताल इतना संवेदनशील हो चुका था कि एंबुलेंस देने के बजाय परिवार वालों को दुत्कार कर भगा दिया गया. इसके बाद मजबूरी में मृतक के परिवार वालों ने शव को कंधे पर लाद और फिर घर लेकर गया.

घटना जनपद बुलंदशहर के एक छोटे से गांव सादातबाड़ी की है यहां देवता सूरजपाल अपने नाना के साथ खेत पर बने हुए कुएं की मिट्टी की सफाई कर रहा था. की तभी अचानक से ढेर सारी मिट्टी उसके ऊपर आ कर गिरी. पीड़ित मिट्टी के नीचे दब गया. काफी देर तक गांव वालों ने कोशिश की तब जाकर कहीं उसे बाहर निकाल पाए. घटना के बाद परिवार वालों ने एंबुलेंस को भी कॉल किया था, लेकिन बार-बार कॉल नहीं उठाने पर घायल को किसी तरह मोटरसाइकिल पर लेकर अस्पताल पहुंचे, लेकिन तब तक देर हो चुकी थी.

परिवार वालों की शिकायत है कि जब घायल को लेकर अस्पताल पहुंचे तो मदद के लिए अस्पताल का कोई भी कर्मचारी आगे नहीं आया. थोड़ी देर हुए शोर-शराबे के बाद डॉक्टर, परिवार के पास पहुंचा और प्राथमिक जांच के बाद ही पीड़ित को मृत घोषित कर दिया. इसके बाद इन्होंने वापस जाने के लिए एंबुलेंस की मांग की तो अधिकारियों ने उसे डांट फटकार कर भगा दिया.कहा कि जब मोटरसाइकिल पर आए थे तो वैसे ही लेकर भी जाओ. घटना की जानकारी मीडिया में आने के बाद सीएमओ ने मामले का संज्ञान लिया. उन्होंने कहा कि जांच पड़ताल के बाद बताया कि हमने परिवार से पोस्टमार्टम के लिए इंतजार करने के लिए कहा था लेकिन परिवार वाले शरीर को अपने साथ लेकर चलते बने.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *