अंतरराष्ट्रीय चर्चित

इसी बीच दाऊद इब्राहिम का एनकाउंटर करने वाले थे अजीत डोभाल !

Dawood Ibrahim was about to encounter Ajit Doval

रिपोर्ट अड्डा (नई दिल्ली) : देश में इन दिनों काले धन और नोट बंदी को लेकर माहौल गरम है। हर तरफ नोटबंदी और उसके बाद हो रही परेशानियों की ही चर्चा है। मोदी सरकार ने काले धन, जाली नोट और आतंकवाद पर एक साथ चोट की है। 1000 और 500 के नोट बंद करने से काला धन रखने वालों की शामत आ गई है। जाली नोट का धंधा करने वाले अपनी किस्मत को कोस रहे हैं। आतंकवाद की फंडिंग के काम आने वाला पैसा भी बेकार हो गया है। कुल मिलाकर एक तीर से मोदी सरकार ने तीन निशाने साधे हैं।

देश में हर कोई मोदी सरकार के इस फैसले का स्वागत कर रहा है। आम जनता परेशानी झेल कर भी इस फैसले के साथ खड़ी है।इन सबके बीच एक बहुत ही महत्वपूर्ण खबर आपसे मिस हो गई। आतंकवाद के खिलाफ मोदी सरकार की सख्त नीति के बारे में आप को पता ही है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि पीएम मोदी के राइट हैंड कहे जाने वाले एनएसए अजीत डोभाल अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम का एनकाउंटर करने वाले थे। चौंक गए न ये खबर सुनकर।

इंडियन जेम्स बॉन्ड कहे जाने वाले अजीत जोभाल ने पूरी तैयारी कर ली थी दाऊद को मारने की। निशाना तय , मारने वाले तय लेकिन एक छोटी सी चूक के कारण दाऊद बच निकला।बात उस समय की है जब दाऊद इब्राहिम की बेटी मारूख की शादी होने वाली थी। दाऊद की बेटी की शादी पाकिस्तान के दिग्गज क्रिकेट खिलाड़ी जावेद मियांदाद के बेचे के साथ तय हुई थी।

इस शादी में दाऊद को भी आना था। शादी दुबई में थी। अजीत डोभाल ने पूरी प्लानिंग कर ली थी। दाऊद किस समय आएगा, कब तक रुकेगा इसकी पुख्ता जानकारी डोभाल के पास थी। छोटा राजन गैंग के दो शार्प शूटर भी अरेंज किए गए थे दाऊद को परलोक पहुंचाने के लिए।

जिस दिन दाऊद की बेटी की शादी थी। उस से एक दिन पहले अजीत डोभाल शार्प शूटरों के साथ मुंबई के एक होटल में आखिरी तैयारियों पर चर्चा कर रहे थे। दोनों शार्प शूटरों को नेपाल के रास्ते भारत लाया गया था। इस पूरी योजना के बारे में किसी को जानकारी नहीं थी। अंतिम समय पर होटल में मुंबई पुलिस के एक अधिकारी कुछ सिपाहियों के साथ आ धमकते हैं। वो दोनों शार्प शूटरों को थाने ले जाने के लिए कहते हैं। अजीत डोभाल उनको बहुत समझाते हैं कि ये किस काम के लिए आए हैं। वो पुलिस वालों को धमकाते भी हैं कि वो किस से बात कर रहे हैं। लेकिन पुलिस वाले कुछ नहीं मानते हैं। और इस तरह दाऊद इब्राहिम को मारने की पूरी योजना चौपट हो जाती है। बाद में इस बात के संकेत मिले कि जो पुलिस वाले होटल में आए थे वो दाऊद को जानकारी देते थे।

Advertisement

रिलेटेड कंटेंट के लिए नीचे स्क्रॉल करे..

Loading...
Advertisement

Leave a Comment