चर्चित

जनता ने दिया कांग्रेस को बंपर दीवाली गिफ्ट, मोदी और शाह के माथे पर पसीना !

narendra modi

नई दिल्ली(रिपोर्ट अड्डा): दीवाली से पहले ही कांग्रेस को जनता ने बंपर गिफ्ट दे दिया है। वो कांग्रेस जो हताशा के सागर में गोते लगा रही थी वो अचानक से जोश में आ गई है। राहुल गांधी आक्रामक हो गए हैं। कांग्रेस का कार्यकर्ता भी उत्साह से भर गया है। जिन लोगों ने कांग्रेस से उम्मीद करना छोड़ दिया था, वो भी सक्रिय हो गए हैं। इसे कांग्रेस की वापसी का संकेत कहा जा रहा है। बात कर रहे हैं गुरदासपुर लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव के बारे में। विनोद खन्ना के निधन के बाद ये सीट खाली हो गई थी।

गुरदासपुर लोकसभा सीट पर हुए उपचुनाव में कांग्रेस ने बाजी मार ली है, केवल जीत ही नही दर्ज की है बल्कि लगभग दो लाख वोटों से जीत दर्ज करके कांग्रेस उम्मीदवार ने बीजेपी को जोरदार झटका दिया है। बता दें कि ये सीट बीजेपी के लिए नाक का सवाल बनी हुई थी। लेकिन कांग्रेस के सुनील जाखड़ ने बीजेपी के उम्मीदवार को करारी शिकस्त दी है। सुनील जाखड़ ने बीजेपी और अकाली दल के संयुक्त उम्मीदवार स्वर्ण सलारिया को पराजित किया है। इस चुनाव में आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार को तीसरे स्थान से संतोष करना पड़ा। ये जीत कांग्रेस के लिए काफी अहम है।

पंजाब विधानसभा चुनाव में जीत हासिल करने के बाद से कांग्रेस में नई ऊर्जा दिखाई दे रही है। इस जीत को कांग्रेस ने मोदी सरकार की नीतियों के खिलाफ जनता का गुस्सा बताया। कांग्रेस के नेता गुरदासपुर में जीत के बाद से ही जश्न मना रहे हैं। कांग्रेस की इस जीत का असर निश्चित तौर पर केंद्रीय राजनीति पर भी होगा, लोकसभा में कांग्रेस का एक सांसद बढ़ गया है लेकिन उस से भी अहम बात ये है कि अब कांग्रेस जोश में आ गई है। उसे ये पता चल गया है कि मोदी को हराया जा सकता है।

कांग्रेस के लिए दोहरी खुशी इस बात की है कि गुरदासपुर के अलावा उसे केरल में भी जीत हासिल हुई है। केरल की वेंगारा विधानसभा सीट पर हुए उपचुनाव में एलडीएफ को हार का सामना करना पड़ा है। इस सीट को कांग्रेस नेतृत्व वाले यूडीएफ के उम्मीदवार केएनए खादेर ने जीत लिया है। इस सीट पर बीजेपी चौथे नंबर पर रही। बीजेपी को उम्मीद थी कि केरल में वो अच्छा प्रदर्शन करेगी लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ। ये मोदी सरकार के लिए खतरे की घंटी है। सरकार को जीएसटी के असर को लेकर गंभीरता से सोचना होगा। छोटे कारोबारियों की परेशानियों को दूर करना होगा। नहीं तो 2019 में बीजेपी को इसके गंभीर परिणाम भुगतने पड़ सकते हैं।

Advertisement

रिलेटेड कंटेंट के लिए नीचे स्क्रॉल करे..

Loading...
Advertisement

Leave a Comment