चर्चित राष्ट्रीय

राहुल गांधी की सबसे बड़ी बेइज्जती, कांग्रेस नेता ने ही कहा पप्पू, मुंह छुपा रहे हैं युवराज

कांग्रेस, राहुल गांधी, पप्पू

नई दिल्ली(रिपोर्ट अड्डा): राहुल गांधी के जीवन का सबसे बड़ा अपमान कांग्रेस के ही एक नेता ने किया है। जी हां, मेरठ कांग्रेस के पूर्व जिला अध्यक्ष, विनय प्रधान ने राहुल गांधी को पप्पू कहा है। एक नहीं बल्कि कई बार कहा है। जिसका नतीजा ये हुआ कि उनको पार्टी से निकाल दिया गया है। बता दें कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को पप्पू के नाम से संबोधित किया जाता है। विरोधी दलों के द्वारा एक नहीं कई बार इस तरह का संबोधन इस्तेमाल किया गया है। लेकिन अब कांग्रेस के ही एक नेता ने राहुल को पप्पू कहा है। उन्होंने राहुल की तारीफ करते हुए पप्पू शब्द का उपयोग किया। लेकिन कांग्रेस को ये बात नागवार गुजरी। पार्टी ने फौरन विनय प्रधान को सस्पेंड कर दिया है। Read Also: खुल गई राहुल गांधी की पोल, शर्मनाक है, किसानों के नाम पर इतनी बड़ी साजिश !

दरअसल विनय प्रधान ने राहुल गांधी की तारीफ के लिए व्हाट्सएप ग्रुप पर एक मैसेज भेजा था। इस मैसेज में उन्होंने राहुल की तारीफ की थी। लेकिन इसके लिए उन्होंने कई जगह पप्पू शब्द का उपयोग किया था। जिस पर विपक्ष को मौका मिल गया कांग्रेस पर हमला करने का। ये बात प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राज बब्बर को पता चली। उन्होंने फौरन विनय प्रधान से सारे पद वापस ले लिए और उनको पार्टी से सस्पेंड कर दिया। राज बब्बर ने कहा कि ये अनुशासनहीनता है, जिसे बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है।

चलिए अब आपको बताते हैं कि विनय. प्रधान के मैसेज में क्या था। उन्होंने लिखा था कि राहुल गांधी जिसे देश का एक हिस्सा पप्पू के नाम से भी जानता है, आज आप बताएं कि क्या पप्पू ने कभी महंगी गाड़ियों का शौक पाला? जबकि वो पाल सकते थे। क्या वो कभी अंबानी, अडानी, माल्या की पार्टी में शामिल हुआ, नहीं न, जबकि शामिल हो सकते थे। पप्पू ने कभी शान-शौकत का प्रदर्शन किया? नहीं, परंतु कर सकता था। पप्पू मंत्री और प्रधानमंत्री भी बन सकता था पर बना? नहीं। पप्पू से पूरे दस साल अंबानी, अडानी मिलना चाहते रहे.

मैसेज में आगे लिखा था कि 2004 से 2014 तक सरकार रही और पप्पू के एक इशारे पर सरकार के मंत्री उनका काम कर सकते थे लेकिन पप्पू ने अंबानी, अडानी को 5 मिनट का समय भी नहीं दिया। क्योंकि वो पप्पू था, जानता था कि ये सरकार से केवल बिजनेस करेंगे, गरीबों का खून चूसेंगे. वो अटकते हैं धारा प्रवाह नहीं बोल पाते, संघ इसीलिए पप्पू बनाने के मिशन में लग गया, परंतु हिंदी में धारा प्रवाह भाषण देकर झूठ बोलने से बेहतर ईमानदारी से जनता के लिए संघर्ष करना है। अब कहा जा रहा है कि विनय प्रधान जल्द ही बीजेपी में जा सकते हैं।

Leave a Comment