इस गांव के लोग रातों रात करोड़पति बन गए, एशिया का सबसे अमीर गांव है ये

bomja

bomjaभारत में बेरोजगारी और गरबी को लेकर अक्सर बहस होती रहती है। लेकिन इन चर्चाओं के बीच एक गांव ने एशिया में अपना डंका बजा दिया है, इस गांव के बारे में जानकर आप भी सोचने पर मजबूर हो जाएंगे, ये गांव अरुणाचल प्रदेश में हैं, इस गांव के बारे में चर्चा इसलिए हो रही है क्योंकि इस गांव के लोगों ने काम ही कुछ ऐसा किया है, वैसे तो ये गांव अरुणाचल प्रदेश के तवांग इलाके में आता है, जहां आज भी आधुनिक सुख सुविधाओं का अभाव है, मगर गांव के लोग अब परेशान नहीं है, उनकी किस्मत एक झटके में बदल गई है।

कैसे बदली किस्मत
इस गांव के लोगों की चर्चा अगर एशिया में हो रही है तो इसका कुछ तो कारण होगा, चलिए आपको बताते हैं, ये एशिया का सबसे अमीर गांव हैं, यहां के सभी लोग करोड़पति हैं, ये करोड़पति किस तरह से बनें, ये भी एक दिलचस्प कहानी है, गांव के सभी लोग रातों रात करोड़पति बन गए हैं। इसका कारण सरकार है।

बोमजा गांव की शान
अरुणाचल प्रदेश के इस गांव का नाम बोमजा गांव है, इस गांव के बारे में अभी तक किसी को कुछ खास नहीं पता था, लेकिन सरकार के एक कदम से इस गावं की चर्चा हर तरफ होने लगी है। इस गांव में रहने वाले सभी लोग करोड़पति बन गए हैं, आप ये सोच रहे होंगे कि गांव के लोग करोड़पति कैसे बन गए, कसे ये गांव एशिया के सबसे अमीर गांव बन गया।

क्या है अमीरी का कारण
अब हम आपको इस गांव की अमीरी का कारण बताते है, इस गांव में भारतीय सेना तवांग गैरसन की एक और यूनिट स्थापित करना चाहती है, इसके लिए जमीन चाहिए, जमीन गांव वालों के पास है, उनसे जमीन ली गई, बदले में तगड़ा मुआवजा दिया गया। उसी पैसे के कारण इस गांव का हर शख्स करोड़पति बन गया है। बोमजा गांव के लोगों की चांदी हो गई है।

रक्षा मंत्रालय ने ली जमीन
तवांग गैरसन यूनिट के लिए रक्षा मंत्रालय को जमीन चाहिए, सेना ने गांव के लोगों से जमीन अधिग्रहीत की, जिसके बदले में हर परिवार को एक एक करोड़ रूपये मिले। जानकारी के मुताबिक रक्षा मंत्रालय ने कुल 200.056 एकड़ जमीन अधिगृहित की है. जिसके बदले गांव के 31 परिवारों को रक्षा मंत्रालय की ओर से 40.8 करोड़ रुपये का चेक सौंपा गया है.

SHARE