राज्य

यूपी में बीजेपी का ‘पड़ोसी प्लान’… ये मोदी की कैसी चाल है, दोनों शहजादे हैरान !

बीजेपी

नई दिल्ली(रिपोर्ट अड्डा): उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में बीजेपी को रोकने के लिए कांग्रेस और सपा ने गठबंधन कर लिया है। लेकिन इसके बाद भी वो बीजेपी की लगातार बढ़ती ताकत से परेशान हैं। राहुल गांधी और अखिलेश यादव की जोड़ी एक साथ रोड शो के जरिए प्रदेश की जनता से वोट मांग रही है। इस जोड़ी की काट के लिए बीजेपी ने भी मोदी और शाह की जोड़ी को मैदान में उतार दिया है। अब मोदी और शाह की जोड़ी के सामने राहुल और अखिलेश कब तक टिक पाएंगे।

बीजेपी के लिए यूपी से एक अच्छी खबर है। बीजेपी ने पड़ोसी राज्यों से अपने संगठन के नेताओं को यूपी में उतार दिया है। दरअसल बिहार में बीजेपी को महागठबंधन के हाथों हार का सामना करना पड़ा था। लिहाजा बिहार संगठन के नेताओं को यूपी में लगाया गया है। वो बिहार की हार से सबक लेकर फिर से वो गलती नहीं दोहराएंगे। इसका फायदा बीजेपी को मिल सकते हैं।

बिहार के अलावा मध्य प्रदेश के भी कुछ नेता यूपी में बीजेपी के लिए काम कर रहे हैं। साफ है कि बीजेपी बिहार से सबक लेकर उन गलतियों को यूपी में नहीं करेगी। इसके अलावा जोड़ी का मुकाबला इस बार जोड़ी से हो रहा है। शनिवार को जिस तरह से एक ही दिन में मोदी और शाह ने सपा कांग्रेस पर हमला किया उस से राहुल और अखिलेश की जोड़ी का रंग फीका दिख रहा है। राहुल और अखिलेश के रोड शो से एक बात साफ होती जा रही है।

अखिलेश यादव जहां अभी तक मुद्दों के आधार पर हमला करते थे। वो भी राहुल गांधी के रंग में रंगते दिखाई दे रहे हैं। राहुल गांधी बिना किसी आधार और तर्क के पीएम मोदी पर हमला करते हैं। वो मोदी से देश को बचाने की बात करते हैं। अखिलेश यादव भी इस तरह के हमले कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि देश को मोदी और संघ से बचाना है। राहुल की राह पर चलना अखिलेश के लिए खतरनाक हो सकता है। उनकी छवि काम करने वाले नेता की बन रही है ऐसे में वो राहुल का साथ लेकर अपनी छवि के साथ प्रयोग कर रहे हैं।

Leave a Comment