मोदी सरकार की इस पहल से जनता को होंगे कई फायदे, बाइक चलेगी 40 रुपये में 100 किमी

nitin-gadkari-bjp

nitin-gadkari-bjpबढ़ती महंगाई में पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दाम जनता के माथ पर चिंता की लकीरों को उभार रहे हैं। तमाम सरकारों के वादों के बावजूद पेट्रोल के दाम गिरने का नाम नहीं ले रहे लिहाजा कंपनियां अब पेट्रोल के विकल्प की तलाश कर रही हैं ताकि जनता के अंदर नई बाइक खरीदने की ललक एक बार फिर से जले। इसी कड़ी में बड़ी जानकारी सामने आ रही है बजाज ऑटो और टीवीएस ने बॉयो इथेनॉल से चलने वाली बाइकें तैयार कर ली हैं और जल्द ही इन बाइकों का बड़े पैमाने पर प्रोडक्शन भी शुरू हो जाएगा।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि बॉयो एथनॉल वो है जो चावल और गेहूं के भूसे के साथ साथ फसलों के बचे हुए हिस्से से बनाया जा सकता है। कंपनी का दावा है कि एक लीटर एथेनॉल में 100 किमी बाइक चल सकेगी। बाजार में इसकी कीमत 40 से 45 रुपये प्रति लीटर के बीच है। सरकार का कहना है कि वह चाहती हैं कि विदेशों से तेल आयात कम किया जाए और भारत में पेट्रोल के विकल्प का बाजारीकरण हो।bio-ethanol

केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने एक प्रेस संवाददाता सम्मेलन में कहा कि बजाज और टीवीएस ने ऐसे इंजन बनाने में कामयाबी पाई है और अब उन्हें इसके प्रोडक्शन की अनुमति दे दी गई है, आने वाले कुछ समय में यह बाइकें बाजार में उपलब्ध हो सकेंगी। इस मौके पर उन्होंने कहा कि इस प्रयोग से चावल की भूसी का सही इस्तेमाल किया जा सकेगा। पंजाब और हरियाणा में बड़े स्तर पर इसको जलाया जाता है जिसकी वजह से दिल्ली में प्रदूषण का लेवल बढ़ जाता है। उन्होंने बताया कि एक टन चावल की भूसी से 280 लीटर एथेनॉल निकाला जा सकता है।

सरकार के इस पहल से कई समस्याओं का समाधान हो सकता है, एक तो लोगों को महंगाई से राहत मिलेगी, दूसरा कि किसानों को फसल में नये अवसर दिखाई देंगे। बड़े पैमाने पर फेंके जाने वाली भूसी का इस्तेमाल होगा और साथ प्रदूषण की समस्या पर भी काबू पाया जा सकेगा। चूंकि बॉयो एथनॉल को तैयार करना भी सस्ता है, लिहाजा कई उद्योगपति इस काम में कूदेंगे और रोजगार के नए अवसर भी पैदा होंगे।