अंतरराष्ट्रीय

कम्पनी मालिक ने पेश की मिसाल, बेटे की बजाय कर्मचारियों को सौंप दी पूरी संपत्ति

karmachaariyon ko saump dee pooree sampatti

नई दिल्ली (रिपोर्ट अड्डा) :1988 में बंदरगाह वाले डालियाना शहर में स्थापित किये गए वांडा ग्रुप की कहानी “फर्श से अर्श तक की शानदार कहानी हैं”। जिसमें ग्रुप की शुरुआत छोटे-मोटे डेवलपर के रूप में हुई थी।

शॉपिंग मॉल , थीम पार्क, स्पोर्ट्स क्लब तथा सिनेमाओं के मालिकाना हक वाले डालियाना वांडा ग्रुप के संस्थापक और चेयरमैन 62 साल के वांग जियानलिन के पुत्र के द्वारा उनका उत्तराधिकारी बनने से इंकार कर देने के बाद वह उत्तराधिकारी की तलाश में हैं। जो संभवतः प्रोफेशनल मैनेजरों के ग्रुप से चुना जायेगा, और जो वांग जियानलिन के समस्त व्यापार को संभालेगा।

Read Also : कम्पनी मालिक ने बेटे की बजाय कर्मचारियों को सौंप दी पूरी संपत्ति

मिस्टर वांग ने घोषणा की वह अपने बिजनेस को सँभालने के लिये प्रोफेशनल मैनेजरों के समूह से किसी को चुनेगें।

चाइना ऑन्त्रेप्रोन्येर्स में हॉन्गकॉन्ग के साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट ने मिस्टर वांग के हवाले से कहा हैं कि- ” मैंने अपने पुत्र से उत्तराधिकार योजना पर चर्चा की और उसने कहा कि वह वैसी जिंदगी नहीं जीना चाहता, जैसी मैंने जी हैं….”

मिस्टर वांग ने कहा कि- ” हर युवा की अपनी प्राथमिकता होती हैं। यहीं बेहतर है कि हम खुद बोर्ड में रहकर कम्पनी को प्रोफेशनल मैनेजरों के हवाले कर उसे चलाते हुए देखे”……।

Advertisement

रिलेटेड कंटेंट के लिए नीचे स्क्रॉल करे..

Loading...
Advertisement

Leave a Comment