aditya pittie

aditya pittie

पतंजलि के उदय से बड़े बड़े कॉर्पोरेट घराने सकते में हैं की आखिर इतनी तेजी से लोगो के घरों में कैसे अपनी जगह बना ली. पूरे देश मे इसके बड़े बड़े स्टोर हैं जहाँ पतंजलि के प्रोडेटक्स बेचे जाते हैं. पतंजलि की बेशुमार शोहरत के पीछे बाबा रामदेव और आचार्य रामकृष्ण की मेहनत को माना जाता है लेकिन कम ही लोग जानते हैं की इस कामयाबी के पीछे आदित्य पिट्टी का हाथ है, उन्ही की वजह से पतंजलि इतना बड़ा ब्रांड बन सका है.

रामदेव और आदित्य पिट्टी की मुलाक़ात चार साल पहले हुई थी. तब से पिट्टी बाबा का काम धाम देख रहे है. वैसे देखा जाये तो दोनों की शख्सियत एक दुसरे से बिलकुल अलग है लेकिन फिर भी दोनों के बिच गजब का तालमेल बना हुआ है. बाबा, भगवा ओढ़ने वाले शख्श हैं तो वही आदित्य अपनी पढाई लंदन से पूरी करके आए हैं. दोनों साथ आये तो पतंजलि की तरक्की में चार चाँद लग गए.

दिग्गज एफएमसीजी कंपनी पतंजलि करीब दो दर्जन मेनस्ट्रीम एफएमसीजी प्रॉडक्ट्स प्रॉडक्ट्स बेच रही है। जिसमें टूथपेस्ट, शैंपू और दूसरे पर्सनलकेयर प्रॉडक्ट्स से लेकर कॉर्नफ्लेक्स और इंस्टैंट नूडल्स जैसे मॉडर्न फूड शामिल हैं. साल 2013 तक लगभग 1000 करोड़ रुपये की कंपनी पतंजलि आयुर्वेद आज 10,500 करोड़ रुपये का एम्पायर बन चूका है तो वहीँ उसकी सोल डिस्ट्रीब्यूटर पिट्टी ग्रुप का रेवेन्यू जीरो से 1,200 करोड़ रुपये तक पहुँच गया है ।

पिट्टी ग्रुप के सीईओ पिट्टी बताते हैं, ‘मेरे पिता स्वामीजी और आचार्य बालकृष्ण से आठ नौ साल से एक दुसरे को जानते थे। मैंने स्वामी जी और आचार्य जी को पतंजलि के समूचे ऑर्गनाइज्ड चैनल के लिए सप्लाई चेन नेटवर्क का सिंगल विंडो सर्विस प्रस्ताव दिया तो वो झट से मान गए।’ पिट्टी सिर्फ पतंजलि के साथ नहीं जुड़े हैं बल्कि उनका रियल एस्टेट का भी कारोबार है, एक स्पिरिचुअल चैनल शुभ टीवी भी चला रहे हैं, इसके आलावा इनके पास फ्रोजेन चेन योगर्टबे में मेजॉरिटी स्टेक है।

छोटी फार्मेसी से शुरू हुई पतंजलि चार साल ने पहले पिट्टी ग्रुप के साथ पार्टनरशिप की, और इसी के बूते देश में कई सालों से जमी मल्टीनेशनल्स के दबदबे को चुनौती दे दी । पतंजलि के मॉडर्न ट्रेड डिस्ट्रीब्यूटर पिट्टी ग्रुप ने पतंजलि के प्रॉडक्ट्स की इंडियन कंज्यूमर्स के बीच सस्ती दरों पर मार्केटिंग करके मौके को भुना लिया, पतंजलि ने कम समय में ही लोगो का विश्वास जीत लिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *