अंतरराष्ट्रीय चर्चित

डोनल्ड ट्रम्प से डरे अमेरिकी, 52 फीसदी बोले बराक ओबामा हमें ट्रम्प से बचाओ !

Obama save us from Trump

नई दिल्ली(रिपोर्ट अड्डा): अमेरिका के नए राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प को सत्ता संभाले अभी कुछ ही दिन हुए हैं। लेकिन अपने फैसलों से वो दुनिया भर में आलोचना का केंद्र बन रहे हैं। सात मुस्लिम देशों के नागरिकों के अमेरिका में घुसने पर बैन लगाने के उनके फैसले को लेकर दुनिया दो फाड़ हो गई है।

ट्रम्प ने कई मायनों में इतिहास रच दिया है। वो पहले अमेरिकी राष्ट्रपति हैं जिनके खिलाफ सत्ता संभालने के इतने कम दिनों के अंदर 44 मुकदमें दर्ज हुए हैं।ट्रम्प के राष्ट्रपति पद संभालने के बाद से अब तक उनके खइलाफ अमेरिका के अलग अलग हिस्सों में लगभग 44 केस दर्ज किए गए हैं। बराक ओबामा के खिलाफ सत्ता संभालने के बाद 4 केस दर्ज किए गए थे। इतना ही नहीं एक सर्वे के मुताबिक 44 फीसदी अमेरिकी नागरिकों ने कहा है कि ट्रम्प के खिलाफ महाभियोग चलाकर उन्हे पद से हटाया जाए। ये अपने आप में बहुत बड़ी बात है। अमेरिकी जनता का को ट्रम्प और उनके फैसलों से डर लगने लगा है।

52 फीसदी अमेरिकी नागरिकों को बराक ओबामा याद आ रहे हैं। उन्हे लगता है कि ओबामा को वापस फिर से राष्ट्रपति बनना चाहिए। यानि इतनी जल्दी अमेरिका का मन ट्रम्प से भर गया है। दरअसल इसके पीछे ट्रम्प को हाहाकारी फैसले हैं जो उन्होंने राष्टपति बनने के बाद लिए हैं। हालांकि ट्रम्प को उनके फैसले पर सबसे करारा झटका लग चुका है। अमेरिका की फेडरल अदालत ने 7 मुस्लिम देशों के नागरिकों के अमेरिका आने पर लगाए बैन पर रोक लगा दी है।

ट्रम्प ने ईरान के खिलाफ जिस तरह से अपने ट्वीटर हैंडल से धमकी भरे शब्दों का इस्तेमाल किया है उस से अमेरिकी लोगों के मन में ड़र बैठ गया है कि ट्रम्प देश को जंग की तरफ ले जा रहे हैं। ट्रम्प ने ईरान के मिसाइल परीक्षण पर कहा कि ईरान आग से खेल रहा है। वो ये नहीं जानता है कि मैं ओबामा की तरह दयालु नहीं हूं। साफ है कि इस्लामिक आतंकवाद से लड़ाई के खिलाफ ट्रम्प ने जो मोर्चा खोला उसमें वो अपने ही देश में अकेले पड़ते दिख रहे हैं।

Read Also : डोनल्ड ट्रम्प का सबसे शानदार फैसला दुनिया का हर शख्स दुआ देगा !

Leave a Comment