राहुल गांधी की एक गलती से गुजरात में कांग्रेस को झटका, 5 नेताओं ने पार्टी छोड़ी

rahul gandhi

rahul gandhi

गुजरात विधानसभा चुनाव की तारीख नजदीक आती जा रही है। वैसे वैसे चुनावी पारा ऊपर जा रहा है। गुजरात की सत्ता में वापसी का ख्वाब देख रही कांग्रेस पूरा जोर लगा रही है। गुजरात के लिए कांग्रेस ने एक तरह से हिमाचल प्रदेश को दरकिनार कर दिया है। राहुल गांधी समेत पार्टी की पूरी मशीनरी गुजरात में लगी हुई है। सोशल मीडिया से लेकर तमाम तरह के हथकंडे अपनाए जा रहे हैं। खुद राहुल गुजरात में डेरा डाल कर बैठ गए हैं। वो लगातार प्रचार कर रहे हैं। लेकिन उनसे एक ऐसी गलती हो गई है जो कांग्रेस पर भारी पड़ सकती है। राहुल गैर कांग्रेसी युवा नेताओ को जोड़ने में लगे हुए हैं, लेकिन गैरों के चक्कर में वो अपनों को नजरअंदाज कर रहे हैं।

गुरुवार को राहुल ने वलसाड़ और वापी में रली की थी। इस रली के फौरन बाद ही 5 कांग्रेसी नेताओं ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया। चुनाव के बीच में कांग्रेस के नेताओं का पार्टी छोड़ना एक बड़ा झटका माना जा रहा है। इन पांचों नेताओं ने पार्टी छोड़ने का जो कारण बताया है वो राहुल के लिए एक सबक की तरह है। इनका कहना है कि रैली के दौरान राहुल ने इनका उचित सम्मान नहीं किया, जिस से नाराज हो कर ये सभी पार्टी से इस्तीफा दे रहे हैं। इस घटना ने बीजेपी के बैठे बिठाए एक मुद्दा दे दिया है। जिसे बीजेपी भुनाने की पूरी कोशिश करेगी। बता दें कि राहुल के इस तरह के व्यवहार के मामले पहले भी सामने आते रहे हैं।

अब आपको बताते हैं कि इस्तीफा देने वाले पांचों नेता कौन हैं। वापी शहर महामंत्री रश्मि शाह, राजेश जैसवाल, जिला अल्पसंख्यक कमिटी के उपप्रमुख प्रदीप शाह, खलील गोडाल और वापी शहर कांग्रेस  माइनॉरिटी प्रमुख पिरु मकरानी ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। ये अलग बात है कि अभी तक प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने उनके इस्तीफे मंजूर नहीं किए हैं। अब कांग्रेस इस मुद्दे को दबाने में लगी हुई है। राहुल के तूफानी प्रचार के बीच ये झटका जीत की संभावनाओं पर प्रहार कर सकता है। बीजेपी इस मुद्दे को आधार बना कर कांग्रेस पर हमला कर सकती है। इस से पहले असम चुनाव के दौरान भी इसी तरह की घटना सामने आई थी। जब हिमंत बिस्वा सरमा ने पार्टी छोड़कर बीजेपी ज्वाइन कर ली थी।

हिमंत बिस्वा सरमा ने कहा था कि राहुल गांधी के पास पार्टी कार्यकर्ताओं के लिए समय नहं है। जब उनसे मिलने जाते हैं तो वो अपने कुत्ते के साथ खेलते रहते हैं। पार्टी के कार्यकर्ता घंटों इंतजार करने के बाद बिना मिले ही वापस लौट जाते हैं। हाल ही में राहुल ने एक ट्वीट किया था. जिसमें उन्होंने एक कुत्ते का वीडियो शेयर किया था। उन्होंने इस वीडियो के जरिए ये बताने की कोशिश की थी कि उनके लिए ट्वीट कौन करता है। इस ट्वीट पर हिमंत बिस्वा सरमा ने जवाब देते हुए कहा कि उनसे अच्छा कौन जान सकता है कि ये कुत्ता कौन है। कुल मिलाकर राहुल की एक गलती से कांग्रेस मुसीबत में फंस सकती है। गुजरात में अभी तक जितना काम किया है उस पर पानी फिर सकता है।